केरल: भारी बारिश से 29 की मौत, 54 हजार लोग बेघर हुए

kerala-flud
केरल: भारी बारिश से 29 की मौत, 54 हजार लोग बेघर हुए

नई दिल्ली। केरल में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। इसके चलते राज्य में अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 54 हजार लोग बेघर हो गए हैं। भारी बारिश का अंदजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते 3 दिनों में राज्य के पांच शहर ऐसे हैं जहां सामान्य से 5 गुना ज्यादा बारिश हुई है। लोगों के लिए 439 राहत कैंप लगाए गए हैं।

Kerala Flood 29 Die 54 Thousand Homeless :

राज्य के अयानकुलु, इडुक्की और वायनाड में आर्मी के 400 से ज्यादा जवानों को तैनात किया गया है। 4 नेवी की टीमें और एक सी किंग हेलिकॉप्टर वायनाड में फंसे लोगों को निकालने में जुटा हुआ है। इडुक्की बांध में भी पानी का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है और इस कारण डैम के सभी पांच दरवाजे खोल दिए गए हैं। उधर, इडुक्की के कलेक्टर जीवन कुमार ने जानकारी दी है कि, शुक्रवार दोपहर 12 बजे हमने 120 क्यूसेक पानी छोड़ा है। बाद में इसे 600 क्यूसेक तक बढ़ाया गया।

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने शनिवार सुबह वायनाड का हवाई दौरा कर बाढ़ का जायजा लिया। हालांकि खराब मौसम के चलते मुख्यमंत्री का हेलिकॉप्टर इडुक्की के कट्टापन्ना में लैंड नहीं कर सका। बाढ़ के खतरे को देखते हुए प्रदेश में युद्ध स्तर पर राहत और बचाव का काम चल रहा है। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को चार लाख रुपये और जिनके घर-बार बह गए हैं उन्हें 10 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है।

केरल के इडुक्की जिले में मुन्नार स्थित रिजॉर्ट में 50 से ज्यादा पर्यटक पिछले दो दिनों से फंसे हुये हैं, जिनमें 24 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। भारी बारिश के चलते हुये भूस्खलन की चपेट में आने से रिजॉर्ट जाने वाली सड़क क्षतिग्रस्त हो चुकी है।

नई दिल्ली। केरल में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। इसके चलते राज्य में अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 54 हजार लोग बेघर हो गए हैं। भारी बारिश का अंदजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते 3 दिनों में राज्य के पांच शहर ऐसे हैं जहां सामान्य से 5 गुना ज्यादा बारिश हुई है। लोगों के लिए 439 राहत कैंप लगाए गए हैं।राज्य के अयानकुलु, इडुक्की और वायनाड में आर्मी के 400 से ज्यादा जवानों को तैनात किया गया है। 4 नेवी की टीमें और एक सी किंग हेलिकॉप्टर वायनाड में फंसे लोगों को निकालने में जुटा हुआ है। इडुक्की बांध में भी पानी का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है और इस कारण डैम के सभी पांच दरवाजे खोल दिए गए हैं। उधर, इडुक्की के कलेक्टर जीवन कुमार ने जानकारी दी है कि, शुक्रवार दोपहर 12 बजे हमने 120 क्यूसेक पानी छोड़ा है। बाद में इसे 600 क्यूसेक तक बढ़ाया गया।मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने शनिवार सुबह वायनाड का हवाई दौरा कर बाढ़ का जायजा लिया। हालांकि खराब मौसम के चलते मुख्यमंत्री का हेलिकॉप्टर इडुक्की के कट्टापन्ना में लैंड नहीं कर सका। बाढ़ के खतरे को देखते हुए प्रदेश में युद्ध स्तर पर राहत और बचाव का काम चल रहा है। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को चार लाख रुपये और जिनके घर-बार बह गए हैं उन्हें 10 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है।केरल के इडुक्की जिले में मुन्नार स्थित रिजॉर्ट में 50 से ज्यादा पर्यटक पिछले दो दिनों से फंसे हुये हैं, जिनमें 24 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। भारी बारिश के चलते हुये भूस्खलन की चपेट में आने से रिजॉर्ट जाने वाली सड़क क्षतिग्रस्त हो चुकी है।