1. हिन्दी समाचार
  2. केरल सरकार ने लॉकडाउन में दी ज्यादा रियायत, गृह मंत्रालय ने जताई नाराजगी

केरल सरकार ने लॉकडाउन में दी ज्यादा रियायत, गृह मंत्रालय ने जताई नाराजगी

Kerala Government Gives More Concession In Lockdown Home Ministry Expressed Displeasure

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमितों (Coronavirus) का आंकड़ा 17 हजार पार कर गया है। वहीं, एक समय में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में शामिल केरल में हालात तेजी से नियंत्रण में आ रहे हैं। इस बीच केरल सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय की गाइडलाइन की अनदेखी करते हुए लॉकडाउन में रियायत को लेकर नया आदेश जारी किया है। अपने गाइडलाइन में तब्दीली से गृह मंत्रालय नाराज है और केरल सरकार को खत लिखा है।  

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

गृह मंत्रालय ने खत लिखकर जताई कड़ी नाराजगी

गृह मंत्रालय ने केरल सरकार को लिखे पत्र में कहा कि राज्य सरकार ने 17 अप्रैल को बंद संबंधी उपायों के लिए संशोधित दिशा-निर्देशों को प्रसारित किया जिसमें उन गतिविधियों की इजाजत दी गई जो केंद्र सरकार द्वारा 15 अप्रैल को जारी संगठित संशोधित निर्देशों के तहत प्रतिबंधित हैं।

गृह मंत्रालय ने कहा कि यह गृह मंत्रालय की ओर से जारी दिशा-निर्देशों को हल्का करना और आपदा प्रबंधन कानून के तहत 15 अप्रैल को जारी उसके आदेश का उल्लंघन करना है।

अन्य राज्यों के लिए भी जरूरी निर्देश जारी

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश स्थापना दिवसः पीएम मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ से लेकर कई नेताओं ने दी बधाई

गृह मंत्रालय ने अन्य राज्यों से भी कहा है कि लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन लोगों के स्वास्थ्य को गंभीर रूप से खतरे में डाल रहा है। कोविड-19 फैलने का जोखिम भी बढ़ रहा है। स्वास्थ्य कर्मियों के खिलाफ हिंसा हो रही है।

गृह मंत्रालय ने आगे कहा कि सामाजिक दूरी संबंधी नियमों का उल्लंघन किए जाने के साथ ही शहरी इलाकों में वाहनों की आवाजाही देखने को मिल रही है। इंदौर, मुंबई, पुणे, जयपुर, कोलकाता और पश्चिम बंगाल में कुछ स्थानों में कोविड-19 की स्थिति गंभीर है।

राज्य सरकार ने दी सफाई

केरल सरकार ने कहा है कि कहीं कुछ ‘गलतफहमी’ हुई है जिसके कारण केंद्र ने लॉकडाउन के नियमों में ढील पर आपत्ति जताई है। राज्य के पर्यटन मंत्री कदमपल्ली सुरेन्द्रन ने बंद के दिशानिर्देशों में ढील के आरोपों से इनकार किया।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, हमने केंद्र के दिशा-निर्देशों के अनुरूप ही ढील दी है। मुझे लगता है कि कहीं कुछ गलतफहमी है जिसके कारण केंद्र ने स्पष्टीकरण देने को कहा है। एक बार हम जवाब दे दें तो फिर सब ठीक हो जाएगा।

पढ़ें :- किसान आंदोलनः किसानों की ट्रैक्टर रैली को हर झंडी, पुलिस को अलर्ट रहने के आदेश

उन्होंने कहा कि महामारी से लड़ने के संबंध में केंद्र और राज्य का रुख एक समान है। जो कदम उठाए गए हैं उनमें कोई विरोधाभास नहीं है। यह सिर्फ एक गलतफहमी है और हम इसे दूर कर देंगे। उन्होंने कहा कि बंद और नियमों में ढील राज्य और देश के लिए नई बात है और राज्य सरकार, जो भी भ्रम हैं उन्हें कुछ घंटों में दूर कर देगी।

केरल सरकार ने इन अतिरिक्त गतिविधियों की दी अनुमित

केरल सरकार ने जिन अतिरिक्त गतिविधियों को अनुमति दी है उनमें स्थानीय कार्यशालाओं, नाई की दुकानें, रेस्तरां, पुस्तक भंडार, नगर निकाय के तहत आने वाले एमएसएमएई, शहरों और कस्बों में थोड़ी दूरी की बस यात्रा, चार पहिया वाहन की पिछली सीट पर दो यात्रियों और दो पहिया वाहन की पिछली सीट पर बैठकर यात्रा करना शामिल है।

केरल में 401 हुई संक्रमित मरीजों की संख्या

केरल में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के दो मामले सामने आए थे जिसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या 401 हो गई है। हालांकि , राज्य
में अब तक कोविड-19 के कुल 270 मरीज ठीक हुए हैं।

पढ़ें :- माँ चंचाई देवी मंदिर से निकली भव्य शोभा यात्रा,पूरा नगर हुआ भक्तिमय जगह-जगह वितरण हुए प्रसाद

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...