केरल की महिलाओं ने मिलकर कुदाल-फावड़े से खोद डाले 190 कुएं

महिलाओं को शारीरिक रूप से कमजोर समझने वालों को आइना दिखाते हुए केरल के एक गांव की 300 महिलाओं ने अपने दम पर कुएं खोद दिए। महिलाओं ने एक, दो या तीन नहीं बल्कि 190 कुएं खोद कर और लंबे समय से चल रही पानी की समस्या का हल खोज निकाला।

इस युवा महिलाओं ने ही हिस्सा नहीं लिया, उम्रदराज महिलाओं ने भी गड्ढे में उतरकर कुदाल और फावड़े से खुदाई की। केरल के पलक्कड़ जिले के एक गांव की इन महिलाओं ने इस दौरान तकलीफें सहीं, लेकिन संकल्प से पीछे नहीं हटीं।

35 से 70 साल की इन महिलाओं ने सूखे से जूझ रहे अपने गांव में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (एमजीएनआरईजीएस) के तहत पिछले अगस्त से अब तक 190 कुएं खोद लिए हैं। उल्लेखनीय है कि गांव में केवल कुएं और छोटे तालाब ही पानी का जरिया हैं। प्रशिक्षण का अभाव और शारीरिक सीमाएं भी इन महिलाओं की राह का रोड़ा नहीं बन सकीं।