Malmas 2019: शुरू हुआ खरमास, भूलकर भी न करें ये काम

Malmas 2019: शुरू हुआ खरमास, भूलकर भी न करें ये काम
Malmas 2019: शुरू हुआ खरमास, भूलकर भी न करें ये काम

लखनऊ। आज यानि 16 दिसंबर से धनु संक्रांति लग रही है और इसी के साथ खरमास भी शुरू हो रहा है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, खरमास को मांगलिक कार्यों के लिए उचित नहीं माना जाता है। मान्यता है कि खरमास के दिनों में कोई भी शुभ काम जैसे शादी ब्याह, गृह प्रवेश जैसे काम नहीं करने चाहिए, ऐसा करना अशुभ माना जाता है। खरमास को अधिकमास या पुरुषोत्तममास भी कहा जाता है। धर्मशास्त्रों के अनुसार जिस महीने में सूर्य की संक्रांति नहीं होती है उस महीने को खरमास कहा जाता है। इसी वजह से यह माह अशुभ प्रभाव वाला माना जाता है। चलिए जानते हैं खरमास के दिनों में किन कामों को नहीं करना चाहिए…

Kharmas Malmas Ke Niyam Upay :

खरमास के दिनों में न करें ये काम

  • मलमास/ खरमास के महीने में शादी, सगाई, गृह-प्रवेश की पूजा करवाना मंगल फलदायक नहीं होता है।
  • अगर खरमास में इनमें से कोई भी काम किया गया तो परिवार के सदस्यों में कलह, अलगाव या रिश्तों में बहुत खटास पैदा हो सकता है।
  • मलमास/खरमास के महीने में बहुत शुभ मानी जाने वाली चीजें जैसे घर, मकान, गहने और नए वाहन की शॉपिंग नहीं करनी चाहिए।

कब खत्म होता है खरमास

जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है उस दिन मकर संक्रांति होती है। इसी शुभ दिन खरमास का समापन होता है। इसके बाद ही मांगलिक कार्य करने चाहिए। माना जाता है कि जिस दिन खरमास खत्म होता है यानी कि मकर संक्रांति के दिन यदि जातक पवित्र गंगा नदी में स्नान करते हैं तो उन्हें पुण्यफल की प्राप्ति होती है।

लखनऊ। आज यानि 16 दिसंबर से धनु संक्रांति लग रही है और इसी के साथ खरमास भी शुरू हो रहा है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, खरमास को मांगलिक कार्यों के लिए उचित नहीं माना जाता है। मान्यता है कि खरमास के दिनों में कोई भी शुभ काम जैसे शादी ब्याह, गृह प्रवेश जैसे काम नहीं करने चाहिए, ऐसा करना अशुभ माना जाता है। खरमास को अधिकमास या पुरुषोत्तममास भी कहा जाता है। धर्मशास्त्रों के अनुसार जिस महीने में सूर्य की संक्रांति नहीं होती है उस महीने को खरमास कहा जाता है। इसी वजह से यह माह अशुभ प्रभाव वाला माना जाता है। चलिए जानते हैं खरमास के दिनों में किन कामों को नहीं करना चाहिए... खरमास के दिनों में न करें ये काम
  • मलमास/ खरमास के महीने में शादी, सगाई, गृह-प्रवेश की पूजा करवाना मंगल फलदायक नहीं होता है।
  • अगर खरमास में इनमें से कोई भी काम किया गया तो परिवार के सदस्यों में कलह, अलगाव या रिश्तों में बहुत खटास पैदा हो सकता है।
  • मलमास/खरमास के महीने में बहुत शुभ मानी जाने वाली चीजें जैसे घर, मकान, गहने और नए वाहन की शॉपिंग नहीं करनी चाहिए।
कब खत्म होता है खरमास जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है उस दिन मकर संक्रांति होती है। इसी शुभ दिन खरमास का समापन होता है। इसके बाद ही मांगलिक कार्य करने चाहिए। माना जाता है कि जिस दिन खरमास खत्म होता है यानी कि मकर संक्रांति के दिन यदि जातक पवित्र गंगा नदी में स्नान करते हैं तो उन्हें पुण्यफल की प्राप्ति होती है।