दूतावास में पत्रकार की हत्या: शरीर के टुकड़े कर एसिड से गलाया गया था

दूतावास में पत्रकार की हत्या: शरीर के टुकड़े कर एसिड से गलाया गया था
दूतावास में पत्रकार की हत्या: शरीर के टुकड़े कर एसिड से गलाया गया था

Khashoggis Corpse Went Down The Drains Report

नई दिल्ली। सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है। तुर्की अखबार ने शनिवार को छापी गई एक रिपोर्ट में कहा कि खशोगी के हत्यारों ने उनकी हत्या के बाद उनके अवशेषों को तेजाब में जलाकर ड्रेन में फेंक दिया। सरकारी अखबार डेली सबह ने बगैर किसी का नाम लिए सूत्रों के हवाले से बताया कि इस्तांबुल के सऊदी दूतावास के ड्रेन से लिए गए सैंपलों पर तेजाब के थक्के मिले हैं।

गला घोंटकर हुई थी हत्या

कई बार इनकार के बाद आखिरकार बीते दिनों सऊदी सरकार ने स्वीकार किया था कि 59 साल के खशोगी की हत्या कर दी गई है। खशोगी ने जैसे ही इस्तांबुल के दूतावास में प्रवेश किया उनकी ‘गला घोंटकर’ हत्या कर दी गई। तुर्की प्रॉसिक्यूटर का दावा था कि हत्या के बाद खशोगी के शरीर के टुकड़े-टुकड़े किए गए।

2 अक्टूबर को लापता हुए थे खशोगी

खशोगी तुर्की में रहने वाली अपनी मंगेतर हेटिस सेंगीज से निकाह करना चाहते थे। इसकी अनुमति के लिए वे 2 अक्टूबर को दस्तावेज लेने इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के दूतावास गए थे, लेकिन वहां से नहीं लौटे।सऊदी अरब के नागरिक रहे खशोगी वॉशिंगटन पोस्ट के लिए लिखते थे। उनके सऊदी के शाही परिवार से अच्छे रिश्ते थे, लेकिन बीते कुछ महीनों से वे प्रिंस सलमान के खिलाफ लिख रहे थे। 1980 के दशक में खशोगी ने ओसामा बिन लादेन का इंटरव्यू भी लिया था।

वीडियो ने खोली पोल

इससे पहले सऊदी सरकार ने दावा किया था कि दो अक्टूबर को खशोगी को इंस्तानबुल दूतावास आए थे, जिसके बाद वो वहां से बिना किसी रोक-टोक के चले गए थे। लेकिन इसके बाद सामने आए एक वीडियो ने सऊदी सरकार को चारों ओर से घेर दिया। तुर्की लॉ इन्फोर्समेंट के वीडियो में मृत पत्रकार खशोगी की कद काठी का एक व्यक्ति कैद हुआ।

इस वीडियो से ये पुख्ता होता है कि सऊदी अरब ने इस्तांबुल स्थित अपने दूतावास में पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के बाद उसे छिपाने की कोशिश की। इसके लिए उन्होंने खशोगी के बॉडी डबल यानी उनकी ही कद काठी और उनके ही जैसे दिखने वाले व्यक्ति का सहारा लिया।

खुद को बचा रही थी सऊदी सरकार

सऊदी सरकार ने कई दिनों तक उनकी मौत के बारे में अनभिज्ञता प्रकट की थी। लेकिन शनिवार को उसने स्वीकार किया कि खशोगी की मौत हो चुकी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सऊदी सरकार ने कहा कि उन्हें देश वापस आने के लिए मनाने के मकसद से एक टीम उनसे मिलने गई थी। बातचीत के क्रम में विवाद हो गया और गलती से खशोगी की हत्या हो गई।

नई दिल्ली। सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है। तुर्की अखबार ने शनिवार को छापी गई एक रिपोर्ट में कहा कि खशोगी के हत्यारों ने उनकी हत्या के बाद उनके अवशेषों को तेजाब में जलाकर ड्रेन में फेंक दिया। सरकारी अखबार डेली सबह ने बगैर किसी का नाम लिए सूत्रों के हवाले से बताया कि इस्तांबुल के सऊदी दूतावास के ड्रेन से लिए गए सैंपलों पर तेजाब के थक्के मिले हैं। गला…