BJP से निलंबित सांसद कीर्ति आजाद थामेंगे कांग्रेस का हाथ

kirti-azad
BJP से निलंबित सांसद कीर्ति आजाद थामेंगे कांग्रेस का हाथ

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) से निलंबित सांसद कीर्ति आजाद आज कांग्रेस पार्टी में शामिल होने जा रहे हैं। इस बात की जानकारी उन्होने अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा की है। दरभंगा से तीन बार सांसद रहे कीर्ति आजाद ने एक प्रेस रिलीज जारी कर इस बात की जानकारी मीडिया को दी है।

Kirti Azad Suspended From Bjp Will Join Congress Today :

बताते चलें कि कीर्ति आजाद को भाजपा ने तब सस्पेंड कर दिया था, जब वे बार-बार वित्तमंत्री अरुण जेटली पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे थे। कीर्ति आजाद डीडीसीए में हुए घोटालों में वित्तमंत्री अरुण जेटली को जिम्मेदार ठहराते रहे हैं। कीर्ति आजाद ने कहा कि एक साजिश के तहत बिना किसी अपराध के मुझे पार्टी से निलंबित कराया गया।

उन्होने कहा, पिछले 10 महीनों से मैंने गांव-गांव जाकर लोगों से रायशुमारी की। लोगों के सामने अपनी बातें रखीं। उनके निर्देश पर मैंने कांग्रेस में जाने का फैसला किया है। साल 2014 के चुनाव में कीर्ति आजाद दरभंगा लोकसभा सीट से चुने गए थे। इससे पहले 1999 और 2009 में भी वो दरभंगा सीट से ही चुनकर संसद पहुंचने में सफल रहे थे। उन्होंने आरजेडी के अली अशरफ फातमी को हराया था।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) से निलंबित सांसद कीर्ति आजाद आज कांग्रेस पार्टी में शामिल होने जा रहे हैं। इस बात की जानकारी उन्होने अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा की है। दरभंगा से तीन बार सांसद रहे कीर्ति आजाद ने एक प्रेस रिलीज जारी कर इस बात की जानकारी मीडिया को दी है।बताते चलें कि कीर्ति आजाद को भाजपा ने तब सस्पेंड कर दिया था, जब वे बार-बार वित्तमंत्री अरुण जेटली पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे थे। कीर्ति आजाद डीडीसीए में हुए घोटालों में वित्तमंत्री अरुण जेटली को जिम्मेदार ठहराते रहे हैं। कीर्ति आजाद ने कहा कि एक साजिश के तहत बिना किसी अपराध के मुझे पार्टी से निलंबित कराया गया।उन्होने कहा, पिछले 10 महीनों से मैंने गांव-गांव जाकर लोगों से रायशुमारी की। लोगों के सामने अपनी बातें रखीं। उनके निर्देश पर मैंने कांग्रेस में जाने का फैसला किया है। साल 2014 के चुनाव में कीर्ति आजाद दरभंगा लोकसभा सीट से चुने गए थे। इससे पहले 1999 और 2009 में भी वो दरभंगा सीट से ही चुनकर संसद पहुंचने में सफल रहे थे। उन्होंने आरजेडी के अली अशरफ फातमी को हराया था।