1. हिन्दी समाचार
  2. बिज़नेस
  3. किसान आंदोलन: अर्थव्यवस्था को लग रहा झटका, रोजाना 3500 करोड़ रुपए का नुकसान

किसान आंदोलन: अर्थव्यवस्था को लग रहा झटका, रोजाना 3500 करोड़ रुपए का नुकसान

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। किसान अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच उद्योग मंडल एसोचैम ने मंगलवार को कहा कि किसान आंदोलन के कारण अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लग रहा है। इससे पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर की अर्थव्यवस्था को बड़ी चोट पहुंच रही है।

पढ़ें :- Corona New Variant: सावधान रहिए! तेजी से पांव पसार रहा है ओमिक्रॉन, महाराष्ट्र में फिर मिले 10 संक्रमित

एसोचैम ने केंद्र और किसान संगठनों से नए कृषि कानूनों को लेकर जारी गतिरोध को जल्द दूर करने का आग्रह किया है। उद्योग मंडल के एक अनुमान के मुताबिक, किसान आंदोलन के कारण क्षेत्र की मूल्य श्रृंखला और परिवहन प्रभावित हुआ है, जिससे रोजाना 3000-3500 करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है।

एसोचैम के अध्यक्ष निरंजन हीरानंदानी ने कहा, पंजाब, हरियाणा, हिमाचाल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर की अर्थव्यवस्थाओं का सामूहिक आकार करीब 18 लाख करोड़ रुपये है। किसानों के विरोध-प्रदर्शन, सड़क, टोल प्लाजा और रेल सेवाएं बंद होने से आर्थिक गतिविधियां ठहर गई हैं। वहीं, इससे पहले भारतीय उद्योग परिसंघ ने भी किसान आंदोलन को लेकर अर्थव्यवस्था को नुकसान होना बताया था।

 

पढ़ें :- Kisan Andolan: तो क्या खत्म हो जाएगा अब किसान आंदोलन, मिलने लगे संकेत?
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...