पांड्या-राहुल की फिर बढ़ी मुश्किलें, BCCI के लोकपाल ने पेश होने के लिए भेजा नोटिस

rahul
पांड्या-राहुल की फिर बढ़ी मुश्किलें, BCCI के लोकपाल ने पेश होने के लिए भेजा नोटिस

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त BCCI के लोकपाल न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) डी के जैन ने क्रिकेटर हार्दिक पंड्या और केएल राहुल को टीवी शो में दिए सेक्सिस्ट टिप्पणी पर अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस जारी किया है। इससे पहले सीओए ने दोनों खिलाड़ियों को जांच पूरी होने तक सस्पेंड कर दिया था। हालांकि बाद में यह बैन हटा लिया गया।

Kl Rahul And Hardik Pandya Get Notices From Bcci Ombudsman In Koffee With Karan Controversy :

डी के जैन ने खुद पांड्या और राहुल को नोटिस भेजने की बात बताई है. जैन ने कहा, ”मैंने हार्दिक और राहुल को अपना पक्ष रखने के लिए पिछले हफ्ते नोटिस भेजा था।” दोनों खिलाड़ी इस वक्त आईपीएल में हिस्सा ले रहे हैं। यह साफ नहीं हो पाया है कि नोटिस मिलने के बाद BCCI ने दोनों खिलाड़ियों से संपर्क किया है या नहीं।

रिपोर्ट्स की मानें तो दोनों खिलाड़ी 11 अप्रैल को मुंबई में होने वाले मुकाबले से पहले लोकपाल के सामने पेश हो सकते हैं। मामले की जांच जल्दी पूरी होने के लिए दोनों खिलाड़ियों का पक्ष रखना जरूरी है।

जैन ने आगे कहा, ”मेरे लिए दोनों खिलाड़ियों का पक्ष जानना जरूरी है। अब यह उन दोनों पर है कि वह कब सामने आकर अपनी बात बताते हैं।” जनवरी के शुरुआती हफ्ते में कॉफी विद करण का यह विवादित एपिसोड टेलीकास्ट हुआ था।

विवाद बढ़ने के बाद BCCI ने दोनों खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलिया दौरे से वापस बुला लिया था। लेकिन बात में BCCI ने अपने रूख में नरमी दिखाते हुए दोनों खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति दे दी।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त BCCI के लोकपाल न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) डी के जैन ने क्रिकेटर हार्दिक पंड्या और केएल राहुल को टीवी शो में दिए सेक्सिस्ट टिप्पणी पर अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस जारी किया है। इससे पहले सीओए ने दोनों खिलाड़ियों को जांच पूरी होने तक सस्पेंड कर दिया था। हालांकि बाद में यह बैन हटा लिया गया।

डी के जैन ने खुद पांड्या और राहुल को नोटिस भेजने की बात बताई है. जैन ने कहा, ''मैंने हार्दिक और राहुल को अपना पक्ष रखने के लिए पिछले हफ्ते नोटिस भेजा था।'' दोनों खिलाड़ी इस वक्त आईपीएल में हिस्सा ले रहे हैं। यह साफ नहीं हो पाया है कि नोटिस मिलने के बाद BCCI ने दोनों खिलाड़ियों से संपर्क किया है या नहीं।

रिपोर्ट्स की मानें तो दोनों खिलाड़ी 11 अप्रैल को मुंबई में होने वाले मुकाबले से पहले लोकपाल के सामने पेश हो सकते हैं। मामले की जांच जल्दी पूरी होने के लिए दोनों खिलाड़ियों का पक्ष रखना जरूरी है।

जैन ने आगे कहा, ''मेरे लिए दोनों खिलाड़ियों का पक्ष जानना जरूरी है। अब यह उन दोनों पर है कि वह कब सामने आकर अपनी बात बताते हैं।'' जनवरी के शुरुआती हफ्ते में कॉफी विद करण का यह विवादित एपिसोड टेलीकास्ट हुआ था।

विवाद बढ़ने के बाद BCCI ने दोनों खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलिया दौरे से वापस बुला लिया था। लेकिन बात में BCCI ने अपने रूख में नरमी दिखाते हुए दोनों खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति दे दी।