जानें योगा क्यों है बेस्ट

शरीर को स्वस्थ और निरोगी रखने के लिए हम और आप जिम जाने से लेकर तरह तरह के शारीरिक व्यायाम करते हैं। कुछ लोग योगा को बेहतर मानते हैं तो कुछ सुबह की सैर और टहलने को बेहतर मानते है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि शरीरिक व्यायाम का सबसे बेहतर तरीका योगा करना है। कुछ ऐसे शोध हुए हैं जो बाताते हैं कि योगा करना जिम जाने से कई गुना बेहतर और शारीरिक सेहत के साथ साथ हमारी मानसिक सेहत के लिए भी फायदेमंद है।

दिमाग,शरीर और आत्मा तीनों के लिए फायदेमंद है योगा—

व्यायाम करने से न सिर्फ शरीर फिट रहता है बल्कि हमारा दिमाग भी स्वस्थ्य होता है। योगा शरीर को रंगत प्रदान करता है और यह आत्मा को भी जागृत करता है। एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार करता है। वहीं दूसरी ओर जिम में वर्कआउट करने से शारीरिक फ़ायदे तो मिल जाते हैं पर मानसिक और आत्मिक फायदे कम है।

योगा आंतरिक अंगों और बाहरी दोनों तरह से है लाभदायक—

{ यह भी पढ़ें:- सर्दियों में शारीरिक सम्बन्ध बनाना क्यों होता है ज्यादा मजेदार }

योगा के दौरान शरीर में खिचाव,मुड़ाव और घूमाव आदि क्रियाए होती हैं,ये शरीर के आंतरिक अंगो जैसे-पाचन तंत्र, संचार तंत्र, लसीका तंत्र आदि के लिए लाभकारी हैं। योगा शरीर के ज़हरीले पदार्थो को निकालकर, हृदय तंत्र को मजबूत करता है और मांसपेशियों को भी मजबूती प्रदान करता हैं।वर्कआउट केवल मांसपेशियों को मजबूत करता है।

खुली सांस लेने में लाभदायक—

{ यह भी पढ़ें:- संबंध बनाता है शरीर को सेक्सी }

पूरे दिन हम सांस लेते हैं पर गहरी सांस नही ले पाते है, तनाव के समय हम ठीक से सांस नही ले पाते, प्राणायाम साँसों का व्यायाम हैं। प्राणायाम करते समय हम पर्याप्त मात्रा में गहरी सांस लेते हैं। गहरी सांस हमारे सोचने-समझने की क्षमता को बढ़ाता है। जिससे शरीर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन भी पहुंचता है।

योगा ध्यान केन्द्रित करता है और विश्वास बढ़ता हैं—

योगा करते समय अत्यंत ध्यान लगाने कि आवश्यकता होती हैं, निरंतर योगा करने से हम ध्यान केन्द्रित करना सीखते हैं और ये हमारा आत्म विश्वास भी बढ़ाता हैं। अक्सर जिम में लोग लाउड म्यूजिक सुनते हुये वर्कआउट करते हैं जिससे ध्यान केन्द्रित नही होता सिर्फ शरीर फिट होता हैं, योगा से हमारा ध्यान केन्द्रित होता है।

{ यह भी पढ़ें:- ज्यादा व्यायाम-स्टेरॉयड बढ़ा रहा पुरुषों में बांझपन }

किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं योगा—

जिम मे उम्र सीमा बहुत मायने रखती हैं लेकिन योगा कोई भी कर सकता हैं, किसी भी उम्र के लोग चाहे छोटा बच्चा हो या फिर बुजुर्ग हर कोई योगा के आसान करता हैं। जिम मे हम वजन उठाते हैं तो हमारी मांसपेशियां फूलती हैं लेकिन व्यायाम में हमारे शरीर का ही वजन होता हैं, जिससे शरीर फूलता नही हैं बल्कि फिट रहता हैं।

Loading...