इस वजह से मच्छर काटने के बाद होती है खुजली

मच्छर ,खुजली ,mosquito
पुदीनाअगर आपको यह लगता है कि पेड़ और झाड़ियां मच्छरों का पैदा करते हैं तो आप गलत हैं। झाड़ियों और पेड़ों का सही तरह रोपण करना आपके घर को मच्छरमुक्त रख सकता है। तुलसी की झाड़ियां, पुदीना, गेंदा, नींबू, नीम और सिट्रोनेला घास लगाने से मच्छर पैदा नहीं होते।नेप्थलीन बॉल्सकूलर में पानी रहने की वजह से मच्छरों को उनमें पनपने का मौकाै मिल जाता है। ऐसे में इसमें नेप्थलीन बॉल्स डाल दीजिए, इससे मच्छर नहीं आएंगे।

Know Why Do We Itch After Mosquito Bite

लखनऊ। जैसे-जैसे मौसम बदलता है वैसे ही डेंगू, मलेरिया और चिकुनगुनिया जैसी जानलेवा बीमारियों का खतरा भी बढ़ने लगता है। इन बीमारियों को फैलाने वाले मच्छरों के काटते ही व्यक्ति को उस जगह बहुत तेज खुजली होने लगती है लेकिन क्या आप जानते हैं कि मच्छर के काटने से आखिर खुजली क्यों होती है?

इसलिए मच्छर के काटने पर होती है खुजली

  • इस बात से तो हर कोई वाकिफ होता है कि मादा मच्छर हमारा खून चूसने के लिए अपना डंक शरीर में चुभोती हैं। खून चूसने के लिए जो डंक हमारे शरीर में उतारा जाता है वह एक बाल जितना बारीक होता है। खास बात यह है कि इंसानों के शरीर में खून में थक्का बहुत जल्दी बन जाता है। जिसकी वजह से उन्हें खून चूसने में दिक्कत होती है। इससे बचने के लिए मादा मच्छर खून पीते समय व्यक्ति के शरीर में एक विशेष जहरीला रसायन मिला देती है। जिसकी वजह से खुजली होती है।
  • आपके शरीर से खून चूसते समय मच्छर अपना थूक अपने डंक की मदद से आपके शरीर में प्रवेश कर देता है। मच्छरों के थूक में थक्कारोधी तत्वों के साथ कई प्रोटीन मौजूद होते हैं जो थूक के साथ आपके शरीर में प्रवेश करते हैं। जिसकी वजह से आपको खुजली महसूस होती है।
  • मच्छर खून चूसते समय डंक की मदद से जो प्रोटीन शरीर में प्रवेश करते हैं उससे बचाने के लिए रोगप्रतिरोधक क्षमता व्यक्ति की मदद करती है। ऐसा करते समय व्यक्ति की रोगप्रतिरोधक क्षमता हिस्टामिन नाम का एक कंपाउंड रिलीज करती है। यह कंपाउंड आपके सफेद रक्त कोशिकाओं या व्हाईट ब्लड सेल्स को उस प्रभावित क्षेत्र में पहुंचकर उस प्रोटीन से लड़ने में मदद करता है। हिस्टामिन नाम के इस कंपाउंड की वजह से भी व्यक्ति को खुजली और सूजन महसूस होती है।
  • मच्छर के काटने पर शरीर की वो जगह काफी संवेदनशील हो जाती है। ऐसे में उस जगह खुजली करने पर त्वचा और सवेंदनशील बन जाती है।जिसकी वजह से एक बार खुजलाने पर वहां काफी तेज खुजली होने लगती है। लगातार खुजलाने पर आपकी त्वचा को नकसान या फिर किसी तरह का इंफेक्शन होने का खतरा भी बना रहता है।
लखनऊ। जैसे-जैसे मौसम बदलता है वैसे ही डेंगू, मलेरिया और चिकुनगुनिया जैसी जानलेवा बीमारियों का खतरा भी बढ़ने लगता है। इन बीमारियों को फैलाने वाले मच्छरों के काटते ही व्यक्ति को उस जगह बहुत तेज खुजली होने लगती है लेकिन क्या आप जानते हैं कि मच्छर के काटने से आखिर खुजली क्यों होती है? इसलिए मच्छर के काटने पर होती है खुजली इस बात से तो हर कोई वाकिफ होता है कि मादा मच्छर हमारा खून चूसने के लिए अपना…