इस वजह से सलमान खान की जमानत पर नहीं हो सकी सुनवाई

Salman Khan, सलमान खान
इस वजह से सलमान खान की जमानत पर नहीं हो सकी सुनवाई

Know Why Salman Khan Didnt Get Bail Today

जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर स्थित सेंट्रल जेल में गुरुवार को पहुंचे सलमान खान और उनके परिजनों को पूरी उम्मीद थी कि शुक्रवार को जिला सेशन कोर्ट से उन्हें जमानत मिल जाएगी। मगर शुक्रवार को सेशन कोर्ट में सलमान खान के वकीलों की ओर से पेश की गई याचिका पर सुनवाई नहीं हो सकी।

अदालती मामलों के जानकारों की माने तो सलमान खान को गुरुवार को जोधपुर जिला सत्र न्यायालय के ग्रामीण म​जिस्ट्रेट कोर्ट ने वन्य जीव संरक्षण कानून के तहत सजा सुनाई थी। जिसे शुक्रवार को जिला सत्र न्यायालय में चुनौती दी गई। जिला सत्र न्यायालय के जज रविन्द्र कुमार जोशी के समक्ष सलमान के वकीलों द्वारा अपील की गई। जिस पर सुनवाई करने से पहले जज ने निचली अदालत के रिकार्ड को तलब किया है। ​जब तक निचली अदालत का रिकार्ड बड़ी अदालत में नहीं पहुंचता तब तक जज याचिका पर सुनवाई का आधार निर्धारित नहीं कर सकती।

मामला सलमान खान जैसे सिलेब्रिटी से जु​ड़ा है इसलिए जज ने सजा सुनाने वाली निचली अदालत में हुई कार्रवाई का अध्ययन करने के लिए रिकार्ड तलब किए हैं।निचली अदालत की कार्रवाई के अध्ययन और सलमान के वकीलों की ओर से पेश किए गए आधारों को सही पाने के बाद ही अदालत सुनवाई को शुरू करेगी।

इस मामले में सेशन कोर्ट तक रिकार्ड पहुंचने में एक दिन का समय और लग जाने की स्थिति में सलमान के वकीलों को सोमवार को हाईकोर्ट में अपील करनी पड़ सकती है। ऐसी परिस्थितियों में हाईकोर्ट मामले की सुनवाई करने के लिए ​लोअर कोर्ट के रिकार्ड तलब करेगी। जिसमें पांच अन्य दिनों का समय लगने की उम्मीद की जा सकती है। ऐसे में सलमान खान को शुक्रवार तक जेल में रहना पड़ सकता है। हालांकि सलमान खान को हाईकोर्ट से जमानत मिलने की संभावनाएं अधिक नजर आतीं हैं।

 

जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर स्थित सेंट्रल जेल में गुरुवार को पहुंचे सलमान खान और उनके परिजनों को पूरी उम्मीद थी कि शुक्रवार को जिला सेशन कोर्ट से उन्हें जमानत मिल जाएगी। मगर शुक्रवार को सेशन कोर्ट में सलमान खान के वकीलों की ओर से पेश की गई याचिका पर सुनवाई नहीं हो सकी। अदालती मामलों के जानकारों की माने तो सलमान खान को गुरुवार को जोधपुर जिला सत्र न्यायालय के ग्रामीण म​जिस्ट्रेट कोर्ट ने वन्य जीव संरक्षण कानून के तहत…