जान लें, क्या आपके भाग्य में लिखा है संतान का सुख..

putr

आजकल बहुत से लोग संतान के परम सुख से वंचित रह जाते है। वैवाहिक जीवन में आने वाले संतान की, तो उनसे अभिलाषा सबको बहुत ज्यादा होती है और यह उत्सुकता ज्यादा होती है कि कितने बच्चे का सुख उसकी जिंदगी में लिखा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार आपके भाग्य में संतान का सुख कई चीजों में दिखाई देता है।

Know Your Destiny Is Written In The Happiness Of Children :

क्या आपके भाग्य में लिखा है संतान का सुख:

अगर अंगूठे के नीचे वाली रेखा का झुकाव कलाई की तरफ ज्यादा है और हथेली में वो का प्रवेश कर रही है। तो इसका मतलब है कि माता पिता को बहुत मन्नतों के बाद संतान की प्राप्ति होगी।

अगर आपकी छोटी उंगली के नीचे वाली रेखाएं हल्की नजर आती है। तो इसका मतलब आपका पैदा होने वाला शिशु शारीरिक रुप से कमजोर होगा।

इसके अलावा जिनकी हथेली में बुध पर्वत बहुत ज्यादा उभरा हुआ दिखाई देता है और संतान रेखाएं बिल्कुल साफ सुथरी दिखाई देती है तो उन्हें चार पुत्र और तीन कन्या प्राप्त होते हैं।

अंगूठे के नीचे जिनकी रेखाएं ज्यादा उभरी हुई दिखाई देती है उन्हें एक संतान की प्राप्ति होती है उन्हें अन्य संतान की अपेक्षा किसी संतान से विशेष लगाव रहता है और इनसे सुख मिलता है।

आजकल बहुत से लोग संतान के परम सुख से वंचित रह जाते है। वैवाहिक जीवन में आने वाले संतान की, तो उनसे अभिलाषा सबको बहुत ज्यादा होती है और यह उत्सुकता ज्यादा होती है कि कितने बच्चे का सुख उसकी जिंदगी में लिखा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार आपके भाग्य में संतान का सुख कई चीजों में दिखाई देता है।क्या आपके भाग्य में लिखा है संतान का सुख:अगर अंगूठे के नीचे वाली रेखा का झुकाव कलाई की तरफ ज्यादा है और हथेली में वो का प्रवेश कर रही है। तो इसका मतलब है कि माता पिता को बहुत मन्नतों के बाद संतान की प्राप्ति होगी।अगर आपकी छोटी उंगली के नीचे वाली रेखाएं हल्की नजर आती है। तो इसका मतलब आपका पैदा होने वाला शिशु शारीरिक रुप से कमजोर होगा।इसके अलावा जिनकी हथेली में बुध पर्वत बहुत ज्यादा उभरा हुआ दिखाई देता है और संतान रेखाएं बिल्कुल साफ सुथरी दिखाई देती है तो उन्हें चार पुत्र और तीन कन्या प्राप्त होते हैं।अंगूठे के नीचे जिनकी रेखाएं ज्यादा उभरी हुई दिखाई देती है उन्हें एक संतान की प्राप्ति होती है उन्हें अन्य संतान की अपेक्षा किसी संतान से विशेष लगाव रहता है और इनसे सुख मिलता है।