साल के सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर बने कोहली, बोले- रहना चाहता हूं बेस्ट

बेंगलुरू। भारतीय टीम के कप्तान और दुनिया के स्टार क्रिकेटर विराट कोहली को बीती रात क्रिकेट बोर्ड के सालाना पुरस्कारों में बीसीसीआई के साल के सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के लिए पाली उमरीगर पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस खुशी के मौके पर विराट बेहद उत्साहित नज़र आये और इस मौके को साझा करते हुए विराट ने कहा कि वह हमेशा ही दुनिया के शीर्ष खिलाड़ियों में से एक बनना चाहते थे।



सम्मान मिलने के बाद विराट ने कहा, “यह किसी भी खिलाड़ी के लिए गर्व की बात है, मैं निश्चित रूप से हमेशा से ही दुनिया में टॉप खिलाड़ियों में से एक बनना चाहता था। इसलिये मैं समझता था कि सभी तीनों प्रारूप में अपनी फॉर्म बरकरार रखने के लिये क्या करना होगा। बदलाव के दौर में सभी तीनों प्रारूपों में उपलब्ध होना और देश की टीम को आगे बढ़ाना महत्वपूर्ण है। ’’ इसके साथ ही कोहली ने अपने आलोचकों पर भी निशाना साधा और कहा कि उन्हें हमेशा ही अपनी काबिलियत पर भरोसा था, हालांकि उनके आसपास के कुछ लोगों को इस पर संशय था।



कोहली ने कहा कि कभी कभार आप अच्छा नहीं करते हो, लेकिन जब आपकी टीम का चैम्पियन खिलाड़ी आगे बढ़ता है तो प्रत्येक खिलाड़ी योगदान करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए हम इस समय दुनिया की शीर्ष टीम है और इससे हमारी टीम में मौजूद प्रतिभाओं का भी पता चलता है कि कैसे खिलाड़ी मौकों पर सर्वश्रेष्ठ करते हैं जिससे टीम को अलग अलग परिस्थितियों से उबरने में मदद मिलती है। मैं साथी खिलाडिय़ों को उनके सहयोग, भरोसे और प्रयास के लिए शुक्रिया अदा करता हूं।

बेंगलुरू। भारतीय टीम के कप्तान और दुनिया के स्टार क्रिकेटर विराट कोहली को बीती रात क्रिकेट बोर्ड के सालाना पुरस्कारों में बीसीसीआई के साल के सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के लिए पाली उमरीगर पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस खुशी के मौके पर विराट बेहद उत्साहित नज़र आये और इस मौके को साझा करते हुए विराट ने कहा कि वह हमेशा ही दुनिया के शीर्ष खिलाड़ियों में से एक बनना चाहते थे। सम्मान मिलने के बाद विराट ने कहा, "यह किसी…
Loading...