सीबीआई को कानूनी कर्तव्यों को निभाने से रोका गया: राजनाथ सिंह

Rajnath Singh, राजनाथ सिंह
सीबीआई को कानूनी कर्तव्यों को निभाने से रोका गया: राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कोलकाता पुलिस की सीबीआई पर की गयी कार्रवाई को लेकर कहा कि सीबीआई करोड़ों रुपये के चिटफंड घोटाले की जांच कर रही है और इसी संबंध में कोलकाता पुलिस प्रमुख से पूछताछ करना चाहती है। राजनाथ ने लोकसभा में शून्यकाल के दौरान कहा, “कल सीबीआई को कानूनी कर्तव्यों को निभाने से रोका गया।”

Kolkata Police Action Threatens Federal System Says Home Minister Rajnath Singh :

उन्होंने कहा कि शारदा चिटफंड मामले में सीबीआई ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद जांच किया था और अधिकारी सहयोग नहीं कर रहे थे और बार-बार भेजे गए समन का जवाब नहीं दे रहे थे, इसलिए एजेंसी को कार्रवाई करनी पड़ी। उन्होंने कहा, इस घोटाले में राजनेताओं और प्रभावशाली लोगों की सांठ-गांठ के आरोप हैं और एजेंसी सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों के अनुसार मामले की जांच कर रही थी। एजेंसी और राज्य पुलिस के बीच तनातनी गैरकानूनी और दुर्भाग्यपूर्ण है।”

भाजपा नेता ने सदन को बताया कि उन्होंने इस मुद्दे पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा, “राज्यपाल ने मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को तलब किया है और मामले को सुलझाने के लिए तत्काल कार्रवाई करने के लिए कहा है।”

रविशंकर ने दिया ये बयान

वहीं भाजपा नेता और केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर ममता सरकार पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि ममता के लिए राजदार को बचाना जरूरी है। सीबीआई अफसरों के रविवार को मोबाइल और दस्‍तावेज भी छीने गए। ममता बनर्जी भ्रष्‍ट लोगों को बचा रही हैं। उन्‍होंने कहा कि राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया था कि 20 लाख लोगों ने चिटफंड में अपना पैसा गंवाया। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बदले की राजनीति के आरोप बेबुनियाद हैं। बंगाल में भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता से ममता बनर्जी घबरा गई हैं।

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कोलकाता पुलिस की सीबीआई पर की गयी कार्रवाई को लेकर कहा कि सीबीआई करोड़ों रुपये के चिटफंड घोटाले की जांच कर रही है और इसी संबंध में कोलकाता पुलिस प्रमुख से पूछताछ करना चाहती है। राजनाथ ने लोकसभा में शून्यकाल के दौरान कहा, "कल सीबीआई को कानूनी कर्तव्यों को निभाने से रोका गया।" उन्होंने कहा कि शारदा चिटफंड मामले में सीबीआई ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद जांच किया था और अधिकारी सहयोग नहीं कर रहे थे और बार-बार भेजे गए समन का जवाब नहीं दे रहे थे, इसलिए एजेंसी को कार्रवाई करनी पड़ी। उन्होंने कहा, इस घोटाले में राजनेताओं और प्रभावशाली लोगों की सांठ-गांठ के आरोप हैं और एजेंसी सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों के अनुसार मामले की जांच कर रही थी। एजेंसी और राज्य पुलिस के बीच तनातनी गैरकानूनी और दुर्भाग्यपूर्ण है।" भाजपा नेता ने सदन को बताया कि उन्होंने इस मुद्दे पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा, "राज्यपाल ने मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को तलब किया है और मामले को सुलझाने के लिए तत्काल कार्रवाई करने के लिए कहा है।"

रविशंकर ने दिया ये बयान

वहीं भाजपा नेता और केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर ममता सरकार पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि ममता के लिए राजदार को बचाना जरूरी है। सीबीआई अफसरों के रविवार को मोबाइल और दस्‍तावेज भी छीने गए। ममता बनर्जी भ्रष्‍ट लोगों को बचा रही हैं। उन्‍होंने कहा कि राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया था कि 20 लाख लोगों ने चिटफंड में अपना पैसा गंवाया। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बदले की राजनीति के आरोप बेबुनियाद हैं। बंगाल में भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता से ममता बनर्जी घबरा गई हैं।