बाहुबली-2 फिल्म से ज्यादा सर्कस: केआरके

मुंबई। अपने ऊट पटांग बयानों को लेकर सुर्खियां बटोरने वाले और स्वयं भू फिल्म विश्लेषक केआरके ने बाहुबली द कन्क्लूजन को सर्कस करार दिया है। केआरके के मुताबिक सर्कस अच्छा हो या बुरा लोगों को अपनी ओर खींचता ही है। ठीक ऐसा ही बाहुबली 2 के साथ है, फिल्म कमाई के लिहाज से इतिहास रचती जा रही है।




केआरके का कहना है कि अभिनेता प्रभास ने एक साक्षात्कार में कहा था कि निर्देशक राजामौली फिल्म को पूरा नहीं करना चाहते थे। उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि उन्होंने फिल्म क्यों बनाई हैं। ऐसी फिल्म को देखने के लिए लोग 4 बार सिनेमाघरों की ओर जा रहे हैं। शायद लोगों को फिल्म एकबार में समझ नहीं आ रही इसलिए वे बार बार फिल्म देख रहे हैं।




इसके साथ ही केआरके ने बाहूबली 1 की प्रशंसा करते हुए कहा कि उस फिल्म को देखने के बाद वह साउथ इंडियन फिल्में देखने लगे थे, लेकिन बाहूबली 2 देखने के बाद साउथ इंडियन फिल्मों से उनका विश्वास उठ गया है। बाहूबली 2 पहली फिल्म का 10 प्रतिशत भी नहीं है।

उन्होंने कहा कि बाहूबली 2 जैसी गोबर फिल्म भारतीय सिनेमा का ​इतिहास बना रही है यह देखकर उन्हें दुख होता है। उन्हें लगता है कि लोग मुगल—ए—आजम जैसी फिल्मों अब नहीं देखना चाहते।