इंटरनेशनल कोर्ट में भारत का केस अच्छा, पाक की कैद से छूट जाएंगे कुलभूषण जाधव: मुकुल रोहतगी

नई दिल्ली| पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में मृत्युदंड पाने वाले पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले पर अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में (आईसीजे) आज सुनवाई हो रही है| भारत की ओर से इस मामले में पैरवी के लिए पूर्व सॉलिसिटर जनरल हरीश साल्वे के नेतृत्व में एक कानूनी टीम पहले ही द हेग पहुंच चुकी है|



Kulbhushan Jadhav Death Sentence India Pakistan Clash At The International Court Of Justice Today :

इस बारे में अटॉर्नी जनरल ऑफ इंडिया मुकुल रोहतगी ने कहा कि कुलभूषण जाधव कैद से छूट जाएंगे| पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय अदालत का फैसला मानना होगा| रोहतगी ने कहा, “भारत का केस अच्छा है| पाकिस्तान ने सभी अंतरराष्ट्रीय समझौतों का उल्लंघन किया है| वियना संधि का भी उन्होंने उल्लंघन किया है|यह साफ है कि इस केस में उनके पास कोई एवीडेंस नहीं है| जो ट्रायल हुई है इस केस में उसमें दम नहीं है| ट्रायल मिलिट्री अदालत में हुआ जो पब्लिक के लिए बंद था| यह अपने आप जाहिर करता है कि इसमें धोखाधड़ी है| हमें पूरी उम्मीद है, हमारी पूरी तैयारी है| भारत को इस केस में सफलता जरूर मिलेगी|



बता दें कि भारत ने इस मामले को लेकर बीते सोमवार को आईसीजे का रुख किया था, जिसके बाद अगले ही दिन अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय ने जाधव को मौत की सजा दिए जाने पर रोक लगा दी थी| साल्वे ने पिछले सप्ताह आईसीजे द्वारा जाधव की मौत की सजा पर रोक लगाए जाने के बाद कहा था, “इस मामले पर सोमवार को सुनवाई हो सकती है|”

नई दिल्ली| पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में मृत्युदंड पाने वाले पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले पर अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में (आईसीजे) आज सुनवाई हो रही है| भारत की ओर से इस मामले में पैरवी के लिए पूर्व सॉलिसिटर जनरल हरीश साल्वे के नेतृत्व में एक कानूनी टीम पहले ही द हेग पहुंच चुकी है| इस बारे में अटॉर्नी जनरल ऑफ इंडिया मुकुल रोहतगी ने कहा कि कुलभूषण जाधव कैद से छूट जाएंगे| पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय अदालत का फैसला मानना होगा| रोहतगी ने कहा, "भारत का केस अच्छा है| पाकिस्तान ने सभी अंतरराष्ट्रीय समझौतों का उल्लंघन किया है| वियना संधि का भी उन्होंने उल्लंघन किया है|यह साफ है कि इस केस में उनके पास कोई एवीडेंस नहीं है| जो ट्रायल हुई है इस केस में उसमें दम नहीं है| ट्रायल मिलिट्री अदालत में हुआ जो पब्लिक के लिए बंद था| यह अपने आप जाहिर करता है कि इसमें धोखाधड़ी है| हमें पूरी उम्मीद है, हमारी पूरी तैयारी है| भारत को इस केस में सफलता जरूर मिलेगी| बता दें कि भारत ने इस मामले को लेकर बीते सोमवार को आईसीजे का रुख किया था, जिसके बाद अगले ही दिन अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय ने जाधव को मौत की सजा दिए जाने पर रोक लगा दी थी| साल्वे ने पिछले सप्ताह आईसीजे द्वारा जाधव की मौत की सजा पर रोक लगाए जाने के बाद कहा था, "इस मामले पर सोमवार को सुनवाई हो सकती है|"