कुलभूषण जाधव की रिहाई के लिए मां ने की पाकिस्तान सरकार से अपील

नई दिल्ली| कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव की मां ने अपने बेटे की रिहाई के लिए पाकिस्तान के समक्ष अपील दायर की। जाधव की मां ने पाकिस्तान से मामले में दखल देने की मांग की है और अपने बेटे से मिलने की इच्छा जाहिर की है। जाधव को मौत की सजा सुनाई गई है। इस अपील को पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त गौतम बंबावाले ने पाकिस्तानी विदेश सचिव तहमिना जांजुआ से मुलाकात कर उन्हें सौंपी। इस दौरान भारत ने राजनयिक पहुंच की भी मांग की। जाधव पूर्व भारतीय नौसैनिक अधिकारी रहे हैं। यह 16वीं बार है, जब भारत ने राजनयिक पहुंच की मांग की है।



एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, “बंबावले ने जाधव की मां द्वारा दी गई याचिका को पाकिस्तान सरकार को सौंपा और उनके द्वारा जाधव की तरफ से अदालत में भी अपील की गई। जाधव को पाकिस्तान में मनगढंत आरोपों के तहत हिरासत में रखा गया है।” बयान में कहा गया है, “उन्होंने (जाधव की मां) पाकिस्तान की संघीय सरकार से जाधव की रिहाई के लिए दखल देने आग्रह किया है और उनसे मिलने की इच्छा जाहिर की है।”



बयान में कहा गया है कि भारतीय विदेश सचिव एस. जयशंकर ने भी भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त से मंगलवार को मुलाकात की और इन बातों को रखा। जाधव एक पूर्व नौसेना अधिकारी हैं। उन्हें मार्च 2016 में बलूचिस्तान में गिरफ्तार किया गया था। पाकिस्तान ने उन पर जासूस होने का आरोप लगाया है। एक सैन्य अदालत ने उन्हें 10 अप्रैल को मौत की सजा सुनाई थी। भारत ने 15 बार राजनयिक पहुंच की मांग की, लेकिन पाकिस्तान ने इससे हर बार इनकार किया। भारतीय अधिकारियों का कहना है कि उन्हें जाधव के ठिकाने और स्थिति के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई।