कर्नाटक : कुमारस्वामी बोले-हमारे विधायकों को दिये जा रहे हैं 40 से 50 करोड़ के ऑफर

kumarswami
कर्नाटक सरकार पर संकट : कुमारस्वामी बोले-हमारे विधायकों को दिए गए 40 से 50 करोड़ के ऑफर

नई दिल्ली। कर्नाटक में सत्ता के लिए एक पखवाड़े से चल रहा सियासी नाटक जारी है। विधानसभा के अंदर और बाहर पक्ष और विपक्ष एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने में जुटे हैं। हंगामे के कारण कल शक्ति परीक्षण पर मतदान टालना पड़ा। विरोधस्वरूप भाजपा विधायक रातभर सदन में धरने पर बैठे रहे। वहीं आज विधानसभा की कार्यवाही चल रही है। इस दौरान स्पीकर ने कहा कि वह फ्लोर टेस्ट को लेकर वोटिंग में देर नहीं कर रहे हैं।

Kumaraswamy Says Offers 40 To 50 Crores To Our Legislators :

राज्यपाल वजूभाई वाला ने भी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जदएस गठबंधन सरकार को बहुमत साबित करने के लिए  शुक्रवार दोपहर 1:30 बजे तक का वक्‍त दिया है। अब नजरें विधानसभा अध्‍यक्ष पर हैं कि वह आज भी शक्ति परीक्षण कराते हैं या नहीं। शक्ति परीक्षण से पहले कुमारस्वामी ने विधानसभा को संबोधित करते हुए कहा ​कि, मैंने सत्ता का दुरुपयोग की कोशिश नहीं की है। लेकिन हमारी सरकार जब से आई है इसे हटाने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने कहा कि, अगर भाजपा अपनी संख्या के बारे में बिल्‍कुल आश्‍वस्‍त है तो एक दिन में विश्वास मत विवाद को खत्म करने की जल्दबाजी क्यों दिखा रही है। कुमारस्वामी ने कहा कि बीजेपी दल बदल रोधी कानून का उल्लंघन कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारे विधायकों को लुभाने के लिए 40 से 50 करोड़ रुपये की पेशकश की गई। यह पैसे किसके हैं। हमारी पार्टी के विधायक श्रीनिवास गौडा ने आरोप लगाया है कि उन्‍हें भाजपा की ओर से सरकार गिराने के लिए पांच करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया।

नई दिल्ली। कर्नाटक में सत्ता के लिए एक पखवाड़े से चल रहा सियासी नाटक जारी है। विधानसभा के अंदर और बाहर पक्ष और विपक्ष एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने में जुटे हैं। हंगामे के कारण कल शक्ति परीक्षण पर मतदान टालना पड़ा। विरोधस्वरूप भाजपा विधायक रातभर सदन में धरने पर बैठे रहे। वहीं आज विधानसभा की कार्यवाही चल रही है। इस दौरान स्पीकर ने कहा कि वह फ्लोर टेस्ट को लेकर वोटिंग में देर नहीं कर रहे हैं। राज्यपाल वजूभाई वाला ने भी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जदएस गठबंधन सरकार को बहुमत साबित करने के लिए  शुक्रवार दोपहर 1:30 बजे तक का वक्‍त दिया है। अब नजरें विधानसभा अध्‍यक्ष पर हैं कि वह आज भी शक्ति परीक्षण कराते हैं या नहीं। शक्ति परीक्षण से पहले कुमारस्वामी ने विधानसभा को संबोधित करते हुए कहा ​कि, मैंने सत्ता का दुरुपयोग की कोशिश नहीं की है। लेकिन हमारी सरकार जब से आई है इसे हटाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि, अगर भाजपा अपनी संख्या के बारे में बिल्‍कुल आश्‍वस्‍त है तो एक दिन में विश्वास मत विवाद को खत्म करने की जल्दबाजी क्यों दिखा रही है। कुमारस्वामी ने कहा कि बीजेपी दल बदल रोधी कानून का उल्लंघन कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारे विधायकों को लुभाने के लिए 40 से 50 करोड़ रुपये की पेशकश की गई। यह पैसे किसके हैं। हमारी पार्टी के विधायक श्रीनिवास गौडा ने आरोप लगाया है कि उन्‍हें भाजपा की ओर से सरकार गिराने के लिए पांच करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया।