कुंबले-शास्त्री तो आते-जाते रहेंगे, टीम का संतुलन सबसे महत्वपूर्ण: रवि शास्त्री

Kumbale Shaastree Aate Jaate Rahenge Teem Ka Santulan Sabase Mahatvapoorn Ravi Shaastree

नई दिल्ली। टीम इंडिया के नवनिर्वाचित कोच रवि शास्त्री ने आधिकारिक तौर पर टीम का जिम्मा उठा लिया है, बतौर कोच वे पहली बार टीम के साथ श्रीलंका दौरे पर जा रहें है। इस दौरे से पहले मीडिया से मुखातिब होते हुए रवि शास्त्री ने कोच चुनने को लेकर चल रहे बहस पर निशाना साधते हुए कहा कि महत्वपूर्ण यह नहीं है कि कोच कौन है, कुंबले और शास्त्री तो आते-जाते रहेंगे, महत्वपूर्ण यह हैं की टीम का संतुलन बना रहें और हमारी टीम एक जुट होकर बेहतर प्रदर्शन करें।

गौरतलब है कि कोच के साथ ही बल्लेबाजी और गेंदबाजी सलहकार को लेकर बीसीसीआई में उथापोह का माहौल था जिसको लेकर मीडिया में तरह तरह की अफवाहें भी उडी लेकिन आखिर में हुआ वही जो कप्तान कोहली और शास्त्री चाहते थे। इस मौके पर रवि ने भरत अरुण को गेंदबाजी कोच नियुक्‍त किए जाने का भी बचाव किया। शास्‍त्री ने कहा, ‘भरत अरुण इन खिलाड़ि‍यों से मुझसे बेहतर तरीके से वाकिफ हैं वे इस सिस्‍टम के साथ 15 से अधिक वर्षों से जुड़े रहे हैं।’

टीम इंडिया के इस पूर्व हरफनमौला ने कहा कि वे टीम के पिछले वेस्‍टइंडीज दौरे की तुलना में अधिक परिपक्‍व हुए हैं। उन्‍होंने कहा, श्रीलंका के पिछले दौरे के मुकाबले अब मैं अधिक परिपक्‍व हूं। मैं पिछले दो सप्‍ताह में अधिक परिपक्‍व हुआ हूं और अब मेरे ऊपर किसी तरह का दबाव नहीं है।’ विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया को श्रीलंका में तीन टेस्‍ट, पांच वनडे मैच और एक टी20 मैच खेलना है। तीन टेस्‍ट गाले, कोलंबो और कैंडी में खेले जाएंगे।

नई दिल्ली। टीम इंडिया के नवनिर्वाचित कोच रवि शास्त्री ने आधिकारिक तौर पर टीम का जिम्मा उठा लिया है, बतौर कोच वे पहली बार टीम के साथ श्रीलंका दौरे पर जा रहें है। इस दौरे से पहले मीडिया से मुखातिब होते हुए रवि शास्त्री ने कोच चुनने को लेकर चल रहे बहस पर निशाना साधते हुए कहा कि महत्वपूर्ण यह नहीं है कि कोच कौन है, कुंबले और शास्त्री तो आते-जाते रहेंगे, महत्वपूर्ण यह हैं की टीम का संतुलन बना…