क्या आपको पता है कि कोल्ड ड्रिंक है आपके दिमाग की दुश्मन

बदलते दौर के साथ हमारे खानपान में भी बहुत से बदलाव हुए हैं। फास्टफूड्स, कोल्ड ड्रिंक्स और पैकेटबंद खाद्य पदा​र्थों ने हमारी रोजमर्रा की जिन्दगी में ऐसी पैठ बना ली है कि इन्हें नजरंदाज करना नामुमकिन है। इनमें भी कोल्ड ड्रिंक एक ऐसी चीज है जिसका प्रचलन शहरों से लेकर गांवों तक तेजी से बढ़ा है। खास तौर पर गर्मियों के दिनों में महमानों के स्वागत से लेकर दोस्तों के साथ मस्ती सबका आधार यही कोल्ड ड्रिंक है। यह कोल्ड ड्रिंक हमारे शरीर को नुकसान भी पहुंचाती है, ऐसा कई हैल्थ रिसर्चस में सामने आ चुका है। मोटापा और मेटाबोलिज्म से जुड़े कई शोध हुए हैं जिनमें कोल्ड ड्रिंक्स को एक बड़ा कारक माना गया है।



हाल ही में एक नया शोध सामने आया है जिसमें मेडिकल शोधकार्ताओं ने पाया है कि कोल्ड ड्रिंक (सुगर युक्त साफ्ट ड्रिंक्स) का नियमित तौर पर प्रयोग करने से हमारा दिमाग कमजोर होता जाता है। कोल्ड ड्रिंक्स के सेवन से हमारा पूरा दिमाग (मस्तिष्क) और दिमाग के उस हिस्से का विकास पूरी तरह से नहीं हो पाता है जिसके प्रभाव से हम बातें याद रख पातीं हैं। जिसके कारण हमारी याददाश्त कमजोर हो जाती है।




शोध में कहा गया कि सुगर युक्त किसी भी ड्रिंक का दिन में कई बार नियमित सेवन करने से इस प्रकार लक्षण सामने आ सकते हैं। शोधपत्र में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि वे ऐसा नहीं कह रहे हैं कि ऐसा सभी के साथ होता है लेकिन ऐसा भी नहीं कहा जा सकता कि ऐसा नहीं होता है। उनके सामने बड़े आंकड़े आए हैं जिनके आधार पर सॉफ्ट ड्रिंक्स, सुगर युक्त ड्रिंक्स और डायट ड्रिंक्स से मस्तिष्क पर होने वाले प्रभावों को नजरंदाज नहीं किया जा सकता।