सम्मान : किर्गिस्तान के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी के लिए पकड़ा छाता

om modi
सम्मान : किर्गिस्तान के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी के लिए पकड़ा छाता

नई दिल्ली। शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर घेरकर कूटनीतिक बढ़त हासिल की है। वहीं इस कार्यक्रम में पीएम मोदी को मिल रहे सम्मान को लेकर भी काफी चर्चा की जा रही है। बता दें कि एससीओ सम्मेलन के दौरान जब एक कार्यक्रम में बारिश होने लगी तो सिक्यॉरिटी स्टाफ की बजाय किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए छाता पकड़ा। यहीं नहीं वो वैसे ही छाता पकड़कर पीएम मोदी को कार्यक्रम स्थल तक ले गए।

Kyrgyzstan President Sooronbay Jeenbekov Held Umbrella For Pm Modi At Sco :

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब पीएम मोदी के लिए किसी राष्ट्रपति ने छाता संभाला हो। इससे पहले भी उनके सम्मान में श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना ने छाता संभाल लिया। श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में जब पीएम मोदी पहुंचे तो उनकी अगवानी के लिए मौजूद राष्ट्रपति सिरिसेना ने अन्य अधिकारियों की बजाय खुद ही छाता संभाल लिया।

बता दें कि पीएम मोदी को मिल रहा ये सम्मान कूटनीतिक लिहाज से अहम माना जा रहा है। बता दें कि शंघाई सहयोग संगठन में पीएम मोदी के अलावा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी हिस्सा लिया था, लेकिन दोनों नेताओं के बीच कोई बातचीत नहीं हुई।

नई दिल्ली। शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर घेरकर कूटनीतिक बढ़त हासिल की है। वहीं इस कार्यक्रम में पीएम मोदी को मिल रहे सम्मान को लेकर भी काफी चर्चा की जा रही है। बता दें कि एससीओ सम्मेलन के दौरान जब एक कार्यक्रम में बारिश होने लगी तो सिक्यॉरिटी स्टाफ की बजाय किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए छाता पकड़ा। यहीं नहीं वो वैसे ही छाता पकड़कर पीएम मोदी को कार्यक्रम स्थल तक ले गए। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब पीएम मोदी के लिए किसी राष्ट्रपति ने छाता संभाला हो। इससे पहले भी उनके सम्मान में श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना ने छाता संभाल लिया। श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में जब पीएम मोदी पहुंचे तो उनकी अगवानी के लिए मौजूद राष्ट्रपति सिरिसेना ने अन्य अधिकारियों की बजाय खुद ही छाता संभाल लिया। बता दें कि पीएम मोदी को मिल रहा ये सम्मान कूटनीतिक लिहाज से अहम माना जा रहा है। बता दें कि शंघाई सहयोग संगठन में पीएम मोदी के अलावा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी हिस्सा लिया था, लेकिन दोनों नेताओं के बीच कोई बातचीत नहीं हुई।