300 रुपये कमाने वाले मजदूर की बेटी ने पास की NEET परीक्षा, अब बनेगी डॉक्टर

300 रुपये कमाने वाले मजदूर की बेटी ने पास की NEET परीक्षा, अब बनेगी डॉक्टर
300 रुपये कमाने वाले मजदूर की बेटी ने पास की NEET परीक्षा, अब बनेगी डॉक्टर

नई दिल्ली। किसी ने सच ही कहा है ‘जहां चाह वहां राह’ यानि परिस्थितियां कैसी भी हों लेकिन अगर आपने ठान ली तो आपके लक्ष्य तक पहुंचने से आपको कोई नहीं रोक सकता। इस मिसाल को सच साबित करते हुए एक मजदूर पिता की बेटी शशि ने कड़ी मेहनत कर नीट परिक्षा को पास कर लिया है। जी हां शशि ने देश की मुश्किल मेडिकल नीट की परीक्षा को पास कर लेडी हार्डिग मेडिकल कॉलेज में दाखिला ले लिया है। आइए जानते हैं कौन हैं शशि और कैसे की नीट परीक्षा की तैयारी…..

Labourer S Daughter Cracks Neet Exam Become Doctor :

बता दें कि, 19 वर्षीय शशि बेहद ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं उनके पिता मजदूर हैं। शशि ने जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत मेडिकल परीक्षा की कोचिंग ली थी। जहां तैयारी कर उन्होंने नीट परीक्षा पास की है, जिसके बाद उन्होंने पिछले साल यहां दाखिला लिया था।

गौरतलब है कि, अनुसूचित जाति के छात्रों को नीट सहित राष्ट्रीय स्तर की परीक्षाओं के लिए जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत निःशुल्क कोचिंग दी जाती है। उन्होंने इस कॉलेज में MBBS कोर्स में दाखिला लिया है। शशि ने अपनी शिक्षा के बारे में बताया कि ‘मैं अपनी पढ़ाई पूरी कर समाज की सेवा करना चाहती हूं। नीट की परीक्षा के लिए ये मेरा दूसरा प्रयास था। इस इस बार, योजना ने मुझे मार्गदर्शन प्राप्त करने में मदद की.शशि ने बताया पिता मजदूरी का काम करते हैं। घर की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी। ‘हमारे पास केवल एक कमरा है, जब परिवार के सभी लोग सो जाते हैं तो मैं पढ़ाई करती हूं।’

शशि के पिता के बारे में

शशि के पिता का नाम अखिलेश है। वह प्रतिदिन 300 रुपये कमाते हैं, उन्होंने बताया मेरी छोटी बेटी रितु (18) जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत NEET परीक्षा की तैयारी कर रही है, और मेरा बेटा IIT में पढ़ाई करना चाहता है। उन्होंने कहा ‘मैं चाहता हूं कि मेरे बाकी बच्चे भी अपनी बहन की तरह ऊंचे लक्ष्य पर चलें। आगे उन्होंने कहा मैं खुश हूं कि एक दिहाड़ी मजदूर की बेटी ने इस साल NEET की प्रवेश परीक्षा दी और अब लेडी हार्डिंग कॉलेज में एडमिशन ले लिया है।’

नई दिल्ली। किसी ने सच ही कहा है 'जहां चाह वहां राह' यानि परिस्थितियां कैसी भी हों लेकिन अगर आपने ठान ली तो आपके लक्ष्य तक पहुंचने से आपको कोई नहीं रोक सकता। इस मिसाल को सच साबित करते हुए एक मजदूर पिता की बेटी शशि ने कड़ी मेहनत कर नीट परिक्षा को पास कर लिया है। जी हां शशि ने देश की मुश्किल मेडिकल नीट की परीक्षा को पास कर लेडी हार्डिग मेडिकल कॉलेज में दाखिला ले लिया है। आइए जानते हैं कौन हैं शशि और कैसे की नीट परीक्षा की तैयारी..... बता दें कि, 19 वर्षीय शशि बेहद ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं उनके पिता मजदूर हैं। शशि ने जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत मेडिकल परीक्षा की कोचिंग ली थी। जहां तैयारी कर उन्होंने नीट परीक्षा पास की है, जिसके बाद उन्होंने पिछले साल यहां दाखिला लिया था। गौरतलब है कि, अनुसूचित जाति के छात्रों को नीट सहित राष्ट्रीय स्तर की परीक्षाओं के लिए जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत निःशुल्क कोचिंग दी जाती है। उन्होंने इस कॉलेज में MBBS कोर्स में दाखिला लिया है। शशि ने अपनी शिक्षा के बारे में बताया कि 'मैं अपनी पढ़ाई पूरी कर समाज की सेवा करना चाहती हूं। नीट की परीक्षा के लिए ये मेरा दूसरा प्रयास था। इस इस बार, योजना ने मुझे मार्गदर्शन प्राप्त करने में मदद की.शशि ने बताया पिता मजदूरी का काम करते हैं। घर की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी। 'हमारे पास केवल एक कमरा है, जब परिवार के सभी लोग सो जाते हैं तो मैं पढ़ाई करती हूं।' शशि के पिता के बारे में शशि के पिता का नाम अखिलेश है। वह प्रतिदिन 300 रुपये कमाते हैं, उन्होंने बताया मेरी छोटी बेटी रितु (18) जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत NEET परीक्षा की तैयारी कर रही है, और मेरा बेटा IIT में पढ़ाई करना चाहता है। उन्होंने कहा 'मैं चाहता हूं कि मेरे बाकी बच्चे भी अपनी बहन की तरह ऊंचे लक्ष्य पर चलें। आगे उन्होंने कहा मैं खुश हूं कि एक दिहाड़ी मजदूर की बेटी ने इस साल NEET की प्रवेश परीक्षा दी और अब लेडी हार्डिंग कॉलेज में एडमिशन ले लिया है।'