आखिर क्यों रखती हैं लड़कियां सोमवार व्रत

नई दिल्ली: भारतीय संस्कृति में व्रत-उपवासों का बड़ा महत्व है। व्रत कामनापूर्ति और ईश्वर के प्रति सर्मपण का प्रतीक होते है। आप भी यह देखते होंगे कि ज्यादातर लड़कियां सोमवार का व्रत रखती है क्या आपको पता है यह व्रत क्यों रखा जाता है अगर नहीं तो हम आपको बताते हैं कि आखिर लड़कियां क्यों सोमवार व्रत रखती हैं|




आपको बता दें कि ज्यादातर लड़कियां भगवान शंकर को अपना इष्ट देव मानती हैं और उन्ही पर बहुत अधिक आस्था रखती हैं| लड़कियाँ अक्सर इच्छित वर की प्राप्ति के लिए भगवान भोलेनाथ को ही मनाती है। कहा जाता है कि भगवान भोलेनाथ बहुत ही दयालु हैं, जो लडकियों पर कृपा कर उन्हें इच्छित वर देते है।




सोमवार व्रत के नियम-

Ladkiya Kyo Rakhti Hai Somvar Vrat :

-आमतौर पर सोमवार का व्रत तीसरे पहर तक होता है|
– व्रत में अन्न या फल का कोई नियम नहीं है |
– भोजन केवल एक ही बार करती है|
– व्रतधारी को गौरी- शंकर की पूजा करनी चाहिए|
– तीसरे पहर, शिव पूजा करके, कथा कह सुनकर भोजन करना चाहिए|



नई दिल्ली: भारतीय संस्कृति में व्रत-उपवासों का बड़ा महत्व है। व्रत कामनापूर्ति और ईश्वर के प्रति सर्मपण का प्रतीक होते है। आप भी यह देखते होंगे कि ज्यादातर लड़कियां सोमवार का व्रत रखती है क्या आपको पता है यह व्रत क्यों रखा जाता है अगर नहीं तो हम आपको बताते हैं कि आखिर लड़कियां क्यों सोमवार व्रत रखती हैं| आपको बता दें कि ज्यादातर लड़कियां भगवान शंकर को अपना इष्ट देव मानती हैं और उन्ही पर बहुत अधिक आस्था रखती हैं| लड़कियाँ अक्सर इच्छित वर की प्राप्ति के लिए भगवान भोलेनाथ को ही मनाती है। कहा जाता है कि भगवान भोलेनाथ बहुत ही दयालु हैं, जो लडकियों पर कृपा कर उन्हें इच्छित वर देते है। सोमवार व्रत के नियम--आमतौर पर सोमवार का व्रत तीसरे पहर तक होता है| - व्रत में अन्न या फल का कोई नियम नहीं है | - भोजन केवल एक ही बार करती है| - व्रतधारी को गौरी- शंकर की पूजा करनी चाहिए| - तीसरे पहर, शिव पूजा करके, कथा कह सुनकर भोजन करना चाहिए|