लड़कियों को दिए जाएं चाकू, जिससे कर सकें अपनी सुरक्षा

अमरावती। आंध्रा प्रदेश की महिला आयोग की अध्यक्ष नन्नापनेनी राजकुमारी ने बलात्कारियों को लेकर सख्त रवैया अपनाने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि आये दिन छात्राओं के साथ हैवानियत की ख़बरें देखने को मिलती हैं। ऐसे में उनकी सुरक्षा के लिए चाक़ू बाँट दिए जाएँ। उन्होंने इस तरह की बात एक शासकीय चिकित्सालय में अपना उपचार करवा रहीं दो बलात्कार पीड़िताओं से मिलने के बाद कही। वे भावुक हो गईं।




राजकुमारी ने कहा है कि लड़कियों के साथ कुछ मर्द तो जंगली जानवरों जैसा बर्ताव करते हैं। यदि लड़कियों को लेकर क्रूर हरकतें होती हैं तो फिर लड़कियों के हाथ में चाकू दिया जाना चाहिए। महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि निर्भया मसले के दोषियों को छोड़कर बलात्कारियों को फांसी की सजा दी जाना चाहिए। इन लोगों को उम्रकैद की सजा भी दी जाना चाहिए। पूर्व विधायक राजकुमारी ने कहा कि बलात्कारियों के पकड़े जाने पर उनके चहरे नहीं ढंके जाने चाहिए।

उनका जुलूस सड़कों पर निकाला जाना चाहिए। बलात्कारियों की चमड़ी उधेड़ कर उनका सड़क पर जुलूस निकाला जाना चाहिए। उन्होंने मांग की कि महाविद्यालय, विद्यालय व अन्य स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने चाहिए। गौरतलब है कि करीब 8 लोगों ने दो लड़कियों के साथ बलात्कार किया था। ये लड़कियां मित्रों के साथ मेला देखने के लिए गई थीं।




बारिश होने के चलते इन लड़कियों ने बंद दुकान के पास ठहरना ठीक समझा और इसके शेड के नीचे रूक गईं थीं। इसी दौरान आरोपी यहां पहुंचे थे और वारदात को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस पर लीपापोती करने और करीब 50 हजार रूपए देने का आरोप लगाया गया है।