1. हिन्दी समाचार
  2. लखीमपुर के यतीश ने वर्ल्ड रिकार्ड कायम कर विश्व पटल पर लहराया भारत का परचम

लखीमपुर के यतीश ने वर्ल्ड रिकार्ड कायम कर विश्व पटल पर लहराया भारत का परचम

Lakhimpur Ke Yatish Ne Banaya World Record

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखीमपुर-खीरी। लखीमपुर की धरती पर बुधवार का सूरज एक नया विश्व कीर्तिमान लेकर आया, जिसने भारतवर्ष का नाम विश्व पटल पर अंकित करा दिया। लखीमपुर खीरी के लाल यतीश चन्द्र शुक्ला ने लगातार 100 घण्टे तक बिना रुके बोलकर एक नया विश्व कीर्तिमान स्थापित किया है। बीती 5 जनवरी से 9 जनवरी तक अनवरत चले लांगेस्ट स्पीच मैराथन कार्यक्रम के अंतर्गत यतीश शुक्ला ने नेपाल राष्ट्र से छीनकर यह खिताब भारत की झोली में डाल दिया।

पढ़ें :- नया घर खरीदनें जा रहे है ऋषभ पंत, आपके आस-पास हो अच्छी लोकेशन तो उन्हें जरूर बताएं

बताते चले कि 35 वर्षीय यतीश चन्द्र शुक्ला जिले के ग्राम रेहरिया के दरोगा शुक्ला के पुत्र हैं, इन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशन व पीएचडी करने के बाद समाज सेवा शुरू कर दी। ज्ञात हो यतीश ने इससे पूर्व गोरखपुर में 148 घण्टे लगातार पढ़ाने तथा इसके बाद खीरी जिले की तहसील गोला में 123 घण्टे लगातार पढ़ने का रिकार्ड भी बनाया है। अब तक विश्व के सबसे लंबे भाषण का रिकार्ड नेपाल राष्ट्र के केसी अनंतराम के नाम था जिन्होंने 90 घण्टे 2 मिनट तक लगातार बोलकर यह रिकॉर्ड बनाया था।

यतीश ने लखीमपुर शहर के एक मैरिज हाल में 5 जनवरी को दोपहर 3 बजकर 50 मिनट से विभिन्न विषयों पर अपना भाषण प्रारम्भ करके 9 जनवरी प्रातः साढ़े दस बजे अपने भाषण के 91 घण्टे पूरे किए तथा गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड तथा गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में अपना नाम दर्ज करा दिया। दिल्ली से लखीमपुर पहुचे गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के जज डॉ राकेश वैद्य ने यतीश को प्रमाण पत्र प्रदान किया।

इस रिकॉर्ड के टूटते ही यतीश के नाम अब तीन विश्व रिकॉर्ड हो गए हैं। छात्र-छात्राओं और अध्यापक अध्यापिका और गणमान्य नागरिकों से खचाखच भरे मैरिज लॉन में जैसे ही यतीश ने अपना रिकॉर्ड तोड़ा वैसे ही जश्न का माहौल हो गया। भारत माता की जय घोष और मातरम वंदे मातरम की जय घोष ने वातावरण में ऊर्जा भर दी। इस अद्भुत क्षण को देखने के लिए उप जिलाधिकारी सदर अरुण कुमार सिंह, गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स से आए जज राकेश वैद्य के साथ स्वयं उपस्थित रहे।

रिकॉर्ड बनते ही कपड़े संस्था फाउंडेशन की संस्था पी का लक्ष्मी खरे ने यतीश को रोली टीका लगाकर और हार पहनाकर उनका स्वागत किया और उन्हें अपना आशीर्वाद दिया। यतीश द्वारा बनाये गए वर्ल्ड रिकार्ड के दौरान इन्होंने बिना पढ़े लगातार 100 घण्टे तक लांगेस्ट स्पीच दी और इस दौरान 5 जनवरी से अब तक सिर्फ 32 ब्रेक में कुल 6 घंटे 9 मिनट का ब्रेक लिया। वर्ल्ड रिकार्ड बनाने के बाद से ही यतीश को बधाई देने वालों का तांता लगा है, इसी क्रम में बार काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष अजय कुमार शुक्ला ने भी यतीश को बधाई देकर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

पढ़ें :- खुफिया विभाग को 20 दिन पहले ही मिली थी ये महत्वपूर्ण जानकारी, अधिकारियों के साथ हुई थी बैठक!

रिपोर्ट- एस.डी. त्रिपाठी
लखीमपुर-खीरी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...