1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lakhimpur Kheri Violence : लखीमपुर खीरी के एसपी विजय ढुल का 40 दिन बाद तबादला, संजीव सुमन होंगे नए एसपी

Lakhimpur Kheri Violence : लखीमपुर खीरी के एसपी विजय ढुल का 40 दिन बाद तबादला, संजीव सुमन होंगे नए एसपी

Lakhimpur Kheri Violence : लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में योगी सरकार (Yogi Government) की कार्रवाई का सिलसिला जारी है। इस हिंसा के करीब 40 दिन बाद गुरुवार की देर शाम प्रदेश सरकार ने लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri ) के पुलिस अधीक्षक (एसपी) विजय ढुल (Lakhimpur Kheri SP  Vijay Dhul) का तबादला कर दिया है। ढुल को लखनऊ (Lucknow) में उत्तर प्रदेश राज्य पुलिस मुख्यालय (Uttar Pradesh State Police Headquarters) से संबद्ध कर दिया गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Lakhimpur Kheri Violence : लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में योगी सरकार (Yogi Government) की कार्रवाई का सिलसिला जारी है। इस हिंसा के करीब 40 दिन बाद गुरुवार की देर शाम प्रदेश सरकार ने लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri ) के पुलिस अधीक्षक (एसपी) विजय ढुल (Lakhimpur Kheri SP  Vijay Dhul) का तबादला कर दिया है। ढुल को लखनऊ (Lucknow) में उत्तर प्रदेश राज्य पुलिस मुख्यालय (Uttar Pradesh State Police Headquarters) से संबद्ध कर दिया गया है। उन्हें प्रतीक्षा सूची में रखा गया है। वहीं इसके साथ ही अपर पुलिस अधीक्षक नगर मुरादाबाद (Additional Superintendent of Police Nagar Moradabad) के पद पर तैनात अमित कुमार आनंद (Amit Kumar Anand) का भी तबादला किया गया है।

पढ़ें :- Akhilesh Yadav बोले- झांसी वाले अब नहीं आएंगे झांसे में,बुंदेलखंड पुकारता है नहीं चाहिए भाजपा सरकार

गृह विभाग (Home Department) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि 2012 बैच के आईपीएस विजय ढुल (IPS Vijay Dhul) की जगह 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी संजीव सुमन (IPS  Sanjeev Suman) को लखीमपुर खीरी जिले का नया एसपी बनाया गया है। अधिकारी ने कहा कि सुमन लखनऊ पुलिस आयुक्तालय में पुलिस उपायुक्त (पूर्व) के रूप में तैनात थीं, उनकी जगह 2016 बैच के आईपीएस अधिकारी अमित कुमार आनंद (IPS Amit Kumar Anand) को तैनात किया गया है।

तीन अक्तूबर को तिकोनिया में हुआ था बवाल

तीन अक्तूबर को तिकोनिया में हुए बवाल में चार किसान और एक पत्रकार समेत आठ लोगों की मौत हुई थी। इस मामले में किसानों की तरफ केंद्रीय गृहराज्य मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा समेत पन्द्रह बीस अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी ने आशीष मिश्रा, आशीष पांडेय, लवकुश राणा, शेखर भारती, अंकितदास और काले उर्फ लतीफ़, भाजपा सभासद सुमित जायसवाल, नन्दन सिंह विष्ट, सत्यम त्रिपाठी, मोहित त्रिवेदी, रिंकू राना, धर्मेंद्र बंजारा और शिशुपाल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पढ़ें :- योगी सरकार ने साढ़े चार साल में स्थापित किए विकास के नए आयाम : Dr. Dinesh Sharma
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...