1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lakhimpur Violence: SIT रिपोर्ट आने के बाद बोलीं प्रियंका गांधी-जांच होनी चाहिए इस साजिश में गृह राज्यमंत्री की क्या भूमिका थी?

Lakhimpur Violence: SIT रिपोर्ट आने के बाद बोलीं प्रियंका गांधी-जांच होनी चाहिए इस साजिश में गृह राज्यमंत्री की क्या भूमिका थी?

Lakhimpur Violence: लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले में एसआईटी की रिपोर्ट आई है। जांच में ​एसआईटी (SIT) ने माना है कि ये एक सोची समझी साजिश थी। एसआईटी (SIT) की रिपोर्ट की सामने आने के बाद हड़कंप मच गया। अब विपक्ष इस मामले को लेकर सरकार को घेरने में जुट गयी है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने इस मामले को लेकर पीएम मोदी पर हमला बोला है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Lakhimpur Violence: लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले में एसआईटी की रिपोर्ट आई है। जांच में ​एसआईटी (SIT) ने माना है कि ये एक सोची समझी साजिश थी। एसआईटी (SIT) की रिपोर्ट की सामने आने के बाद हड़कंप मच गया। अब विपक्ष इस मामले को लेकर सरकार को घेरने में जुट गयी है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने इस मामले को लेकर पीएम मोदी पर हमला बोला है।

पढ़ें :- IND vs AUS Test, Ravichandran Ashwin : रविचंद्रन अश्विन ने रच दिया इतिहास,   दिग्गजों को पछाड़ा

उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच होनी चाहिए कि इसमें गृह राज्यमंत्री की क्या भूमिका थी?  प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्वीट कर कहा है कि, ‘न्यायालय की फटकार व सत्याग्रह के चलते अब पुलिस का भी कहना है कि गृह राज्यमंत्री के बेटे ने साजिश करके किसानों को कुचला था। जांच होनी चाहिए कि इस साजिश में गृह राज्यमंत्री की क्या भूमिका थी? लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी जी (PM Narendra Modi) किसान विरोधी मानसिकता के चलते आपने तो उन्हें पद से भी नहीं हटाया है’।

बता दें कि, लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) के तिकुनिया में हुई​ हिंसा के मामले में अब नया मोड़ आया है। SIT की जांच में अब नया खुलासा हुआ है। एसआईटी ने जांच में पाया कि ये घटना पूरी सोची समझी साजिश थी। वहीं, अब इस मामले में आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ धाराएं बढ़ा दी गई हैं।

वहीं, अब केंद्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी (Ajay Mishra Teni) के बेटे आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) समेत 14 आरोपियों पर अब गैर इरदातन हत्या की जगह हत्या का केस चलेगा। सभी आरोपियों पर जानबूझकर प्लानिंग करके अपराध करने का आरोप है। एसआईटी ने IPC की धाराओं 279, 338, 304 A को हटाकर 307, 326, 302, 34,120 बी,147, 148,149, 3/25/30 लगाई हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...