नीतीश के मंत्री का दावा- बिहार में बाढ़ ने नहीं चूहों ने मचाई तबाही, विपक्ष ने जमकर घेरा

Lalu Yadav Attack On Nitish Kumar Says Rat Government In Bihar

पटना। बिहार बाढ़ की भयंकर चपेट में है, पूरे राज्य में त्राहि-त्राहि मचा हुआ है। इसी में नेताओं की बयानबाजी ने भी ज़ोर पकड़ लिया। पहले जेडीयू के जल संसाधन मंत्री ललन सिंह ने कहा कि 19 जिलों की एक करोड़ 71 लाख की आबादी जिस बाढ़ से प्रभावित हुई है, उसमें सबसे बड़ी भूमिका चूहों की है। चूहों ने नदी के तटबंधों को तो इन्होंने ही तोड़ दिया है। बांध के भीतर भारी संख्या में चूहे अपना आशियाना बना लेते हैं और उसमें छेद कर पूरा का पूरा बांध ही कुतर डालते हैं।

इस बयान पर विपक्ष ने पलटवार करते हुए नीतीश सरकार पर हमला किया है। पहले राजद प्रमुख लालू यादव ने चुटकी लेते हुए अपने अंदाज़ में ट्वीट किया। लालू ने लिखा, ‘नीतीश बताए कि बिहार में बाढ़ दो पैर वाले चूहों की वजह से आई या चार पैरों वाले चूहों की वजह से जो तटबंध निर्माण का हजारों करोड़ खा गए।’
लालू की चुटकी
एक अन्य ट्वीट में लालू ने अपने खास अंदाज में कहा, ‘बाढ़ की जवाबदेही चूहों की है नीतीश की थोड़े है। नीतीश तो नैतिकता के नशे में मस्त और अंतरात्मा से वार्तालाप में व्यस्त है। जय हो चूहा सरकार की।’ राजद सुप्रीमों ने कहा कि पहले हजारों लीटर शराब गायब होने पर चूहों को जिम्मेदार ठहरा दिया गया था। अब बाढ़ में हजारों लोगों के मारे जाने पर एक फिर चूहों को जिम्मेदार ठहरा दिया गया है। मानो ये चूहे ना हुए नीतीश के सरकारी बलि के बकरे हो गए। उन्होंने कहा, ‘गजब रे गजब भाई! क्या आप जानते है बिहार में बाढ़ चूहों के कारण आई। यदि नहीं तो, पता करिए, नीतीश बताएंगे चूहे कैसे बिहार में बाढ़ लेकर आए?’
तेजस्वी का हमला
वहीं लालू के पुत्र व नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने भी इस मुद्दे पर नीतीश को घेरते हुए लिखा कि बिहार के चूहों ने सरकारी शराब पीकर तटबंधों को काट दिया जिससे बिहार में प्रलयकारी बाढ़ आई। नीतीश जी के सुशासनी घोटाले भी चूहों के नाम। तेजस्वी ने अरबों रुपए के सृजन घोटाले को भी पूरे मामले से जोड़ते हुए लिखा, ‘आश्चर्यचकित नहीं होना अगर कल को नीतीश सरकार दावा करें कि सरकारी खजानेे का हजारों करोड़ चूहों ने ‘सृजन’ में विसर्जित कर दिया।’

पटना। बिहार बाढ़ की भयंकर चपेट में है, पूरे राज्य में त्राहि-त्राहि मचा हुआ है। इसी में नेताओं की बयानबाजी ने भी ज़ोर पकड़ लिया। पहले जेडीयू के जल संसाधन मंत्री ललन सिंह ने कहा कि 19 जिलों की एक करोड़ 71 लाख की आबादी जिस बाढ़ से प्रभावित हुई है, उसमें सबसे बड़ी भूमिका चूहों की है। चूहों ने नदी के तटबंधों को तो इन्होंने ही तोड़ दिया है। बांध के भीतर भारी संख्या में चूहे अपना आशियाना बना…