बीजेपी को हराने के लिए लालू यादव ने छोड़ा मांस मछली

पटना। राजद प्रमुख और बिहार की राजनीति में अहम स्थान रखने वाले लालू प्रसाद यादव वैसे तो मांस मछली के शौकीन माने जाते हैं। कई बार मांस-मछली से उनकी दीवानगी भरे महफिल में देखी गयी हैं। लेकिन पिछले 15 दिनों से लालू यादव ने यह सब छोड़ शाकाहारी खाना शुरू कर दिया हैं। इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है कि लालू ने ऐसा क्यों किया है। बताया जा रहा है कि वे इन दिनों पूर्णरूप से शाकाहारी हो गए हैं। इस दौरान उन्होंने मांस-मछली को छुआ तक नहीं है।

लालू ज्योतिषीय परामर्श के बाद शाकाहारी हो गए हैं और उन्होंने मांसाहार का त्याग कर दिया है। लालू न केवल शाकाहारी भोजन कर रहे हैं बल्कि ज्योतिषीय परामर्श को अपने जीवन में कड़ाई से उतार रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो लालू ने ऐसा किसी पंडित के कहने पर किया है। पंडित ने उन्हें मांसाहार छोड़ शाकाहार अपनाने को कहा है। साथ ही यह भी अफवाह है कि ऐसा करने से लालू की मन चाही मुराद पूरी होगी। करीबीयों की माने तो लालू इस दिनों सिर्फ बीजेपी मुक्त भारत की बात कह रहें है।

{ यह भी पढ़ें:- एक के बदले दस सिर लाने वाले आज चुप क्यों: कांग्रेस }

राजद के एक नेता ने नाम नहीं प्रकाशित करने की शर्त पर मीडिया को बताया, “त्रिपाठी ने अध्यक्ष लालू प्रसाद को सलाह दी है कि वे मांसाहार छोड़ दें, तब उन्हें सभी तात्कालिक समस्याओं से मुक्ति मिलेगी। बाबा ने लालू प्रसाद को कहा है कि भगवान शिव के समक्ष ली गई शपथ को भंग करना उचित नहीं है, इसलिए उन्हें तत्काल मांसाहार छोड़ देना चाहिए।”

उल्लेखनीय है कि लालू कुछ वर्ष पूर्व भी मांसाहार छोड चुके थे, परंतु फिर से उन्होंने मछली और अंडा खाना प्रारंभ कर दिया था। उस समय उन्होंने कहा था कि भगवान शिव ने स्वप्न में मांसाहार नहीं करने की बात कही थी। लालू के नजदीकी लोगों का कहना है कि लालू मछली खुद बनाकर भी खाते रहे हैं।

{ यह भी पढ़ें:- लालू ने खुद को बताया तपता हुआ सोना, बोले- तपने के बाद सोना क्या बनता है? }

Loading...