लालू का नया नारा- दो हजार बीस-हटाओ नीतीश, राबड़ी बोलीं- दुष्कर्मियों के समर्थक हैं CM

Lalu Yadav
लालू का नया नारा- दो हजार बीस-हटाओ नीतीश, राबड़ी बोलीं- दुष्कर्मियों के समर्थक हैं CM

पटना। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने बिहार के वर्तमान सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए नये साल पर नया नारा दिया है, उन्होने ट्वीट करते हुए कहा ‘दो हजार बीस हटाओ ​नीतीश’। वहीं लालू यादव की पत्नी व पूर्व बिहार सीएम राबड़ी देवी ने भी नितीश पर हमला करते हुए उन्हे दुष्कर्मियों का समर्थक बता दिया।

Lalus New Slogan Two Thousand Twenty Remove Nitish Rabri Said The Supporters Of The Wrongdoers Are Cm :


आपको बता दें कि बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को अभी भी 10 महीने बचे हैं लेकिन विपक्ष और सत्ताधारी पार्टियों के बीच अभी से तीखी बयानबाजी शुरू हो गई है। दरअसल लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के आरोप में जेल में हैं लेकिन उन्होने ट्वीटर हैंडल चलाने की स्वीक्रति ले रखी है। इसी से ट्वीट करके वह समय समय पर जनता से अपील करते रहते हैं।


वहीं राबड़ी देवी ने भी नितीश पर हमला करते हुए ट्वीट किया कि, “नीतीश जी बताएं, वह ब्रजेश ठाकुर के अखबार को करोड़ों का विज्ञापन क्यों देते थे? उसके स्वयंसेवी संस्था को फंड क्यों करते थे? उसके घर केक खाने क्यों जाते थे? उसे चुनाव क्यों लड़वाते थे?” उल्लेखनीय है कि मुजफ्फरपुर बालिका आवास गृह में यौन शोषण के मामले में ब्रजेश मुख्य आरोपी है और वह जेल में बंद है।

पटना। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने बिहार के वर्तमान सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए नये साल पर नया नारा दिया है, उन्होने ट्वीट करते हुए कहा 'दो हजार बीस हटाओ ​नीतीश'। वहीं लालू यादव की पत्नी व पूर्व बिहार सीएम राबड़ी देवी ने भी नितीश पर हमला करते हुए उन्हे दुष्कर्मियों का समर्थक बता दिया। आपको बता दें कि बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को अभी भी 10 महीने बचे हैं लेकिन विपक्ष और सत्ताधारी पार्टियों के बीच अभी से तीखी बयानबाजी शुरू हो गई है। दरअसल लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के आरोप में जेल में हैं लेकिन उन्होने ट्वीटर हैंडल चलाने की स्वीक्रति ले रखी है। इसी से ट्वीट करके वह समय समय पर जनता से अपील करते रहते हैं। वहीं राबड़ी देवी ने भी नितीश पर हमला करते हुए ट्वीट किया कि, "नीतीश जी बताएं, वह ब्रजेश ठाकुर के अखबार को करोड़ों का विज्ञापन क्यों देते थे? उसके स्वयंसेवी संस्था को फंड क्यों करते थे? उसके घर केक खाने क्यों जाते थे? उसे चुनाव क्यों लड़वाते थे?" उल्लेखनीय है कि मुजफ्फरपुर बालिका आवास गृह में यौन शोषण के मामले में ब्रजेश मुख्य आरोपी है और वह जेल में बंद है।