रेलवे के घाटे पर लालू का तंज, मोहब्बत हमारी भी, बहुत असर रखती है

Lalu Yadav
रेलवे के घाटे पर लालू का तंज, मोहब्बत हमारी भी, बहुत असर रखती है

नई दिल्ली। हाल ही में आयी CAG की रिपोर्ट से रेलवे के लिए बड़ी हैरान करने वाली बात सामने आयी है। इस रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय रेल का परिचालन अनुपात वित्त वर्ष 2017-18 में 98.44 प्रतिशत रहा, यानी रेलवे को 100 रूपये कमाने के लिए 98.44 रूपये खर्च करने पड़े। वहीं जब यूपीए सरकार में बिहार के आरजेडी पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव रेलवे मंत्री थे तो रेलवे काफी मुनाफे में चलती थी। इसी को लेकर लालू प्रसाद ने तंज कसते हुए ट्वीट किया है।

Lalus Stress On Railway Losses Our Love Too Has A Great Impact :

वर्तमान समय में पूर्व रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के मामले में जेल में बन्द हैं लेकिन ट्वीटर अकांउट से उनके बयान आते रहते हैं। उन्होने एक खबर शेयर करते हुए तंज कसा है “मुझे अभी किसी ने याद किया क्या? बहुत हिचकी आ रही है..मोहब्बत हमारी भी, बहुत असर रखती है, बहुत याद आयेंगे, जरा भूल के तो देखो…” आपको बता दें कि 2008-09 में रेल मंत्री रहते हुए लालू यादव ने जब रेल बजट पेश किया था, तो बताया था कि 2007-08 में भारतीय रेलवे ने 25 हजार करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया था। वहीं वित्तीय वर्ष 2008-09 में रेलवे का परिचालन अनुपात 90.48 था।

गौरतलब है कि जब संसद के शीतकालीन सत्र में नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) की रिपोर्ट पेश की गयी तो हैरान करने वाली बात सामने आयी है। जहां 2015..16 में रेलवे का परिचालन अनुपात (ऑपरेटिंग रेशियो) 90.49 प्रतिशत था वहीं 2016..17 में 96.5 प्रतिशत रहा था। लेकिन 2017-18 में पिछले 10 सालों में सबसे निचले स्तर पर पंहुच गया। इस दौरान परिचालन अनुपात 98.44 प्रतिशत हो गया। इसके पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर कहा, ‘‘भारतीय रेल देश की जीवन रेखा है। अब भाजपा सरकार ने भारतीय रेल को भी सबसे बुरी हालत में लाकर खड़ा कर दिया है. ”

नई दिल्ली। हाल ही में आयी CAG की रिपोर्ट से रेलवे के लिए बड़ी हैरान करने वाली बात सामने आयी है। इस रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय रेल का परिचालन अनुपात वित्त वर्ष 2017-18 में 98.44 प्रतिशत रहा, यानी रेलवे को 100 रूपये कमाने के लिए 98.44 रूपये खर्च करने पड़े। वहीं जब यूपीए सरकार में बिहार के आरजेडी पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव रेलवे मंत्री थे तो रेलवे काफी मुनाफे में चलती थी। इसी को लेकर लालू प्रसाद ने तंज कसते हुए ट्वीट किया है। वर्तमान समय में पूर्व रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के मामले में जेल में बन्द हैं लेकिन ट्वीटर अकांउट से उनके बयान आते रहते हैं। उन्होने एक खबर शेयर करते हुए तंज कसा है "मुझे अभी किसी ने याद किया क्या? बहुत हिचकी आ रही है..मोहब्बत हमारी भी, बहुत असर रखती है, बहुत याद आयेंगे, जरा भूल के तो देखो..." आपको बता दें कि 2008-09 में रेल मंत्री रहते हुए लालू यादव ने जब रेल बजट पेश किया था, तो बताया था कि 2007-08 में भारतीय रेलवे ने 25 हजार करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया था। वहीं वित्तीय वर्ष 2008-09 में रेलवे का परिचालन अनुपात 90.48 था। गौरतलब है कि जब संसद के शीतकालीन सत्र में नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) की रिपोर्ट पेश की गयी तो हैरान करने वाली बात सामने आयी है। जहां 2015..16 में रेलवे का परिचालन अनुपात (ऑपरेटिंग रेशियो) 90.49 प्रतिशत था वहीं 2016..17 में 96.5 प्रतिशत रहा था। लेकिन 2017-18 में पिछले 10 सालों में सबसे निचले स्तर पर पंहुच गया। इस दौरान परिचालन अनुपात 98.44 प्रतिशत हो गया। इसके पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर कहा, ‘‘भारतीय रेल देश की जीवन रेखा है। अब भाजपा सरकार ने भारतीय रेल को भी सबसे बुरी हालत में लाकर खड़ा कर दिया है. ''