हिमाचल: भूस्खलन में यात्रियों से भरी दो बसें मलबे में दबीं, कई मरे

हिमाचल प्रदेश
हिमाचल: भूस्खलन में यात्रियों से भरी दो बसें मलबे में दबीं, कई मरे (प्रतीकात्मक)

हिमाचल प्रदेश के मंडी ज‍िला में पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग पर शनिवार देर रात हुए भूस्खलन में भारी नुकसान हुआ है। यह हादसा कोटरोपी में हुआ जहां पहाड़ का एक पूरा हिस्सा टूटने से पूरा गांव ही बह गया है। इस दौरान कोटरोपी से गुजर रहीं ह‍िमाचल पथ पर‍िवहन न‍िगम की दो बसें भी मलबे की चपेट में आकर खाई में जा गिरीं। यात्रियों से भरी दोनों बसें मलबे में अब तक दबी बताई जा रहीं हैं। अाशंका है कि बस में सवार सभी यात्री काल के गाल में समा गए हैं।

मौके पर जारी राहत कार्य में अब करीब 10 यात्रियों के शव निकाले जा चुके हैं। कई लोग अब भी दबे हैं। राहत कार्य में लगे कर्मियों को उम्मीद है कि मलबे में अभी 50 से अधिक लोगों के शव दबे हुए हैं।

{ यह भी पढ़ें:- हिमाचल में 74 प्रतिशत से अधिक मतदान }

बताया जा रहा है कि दोनों बसें मनाली-कटड़ा तथा चंबा-मनाली रूट पर चल रहीं थीं। कोटरोपी से गुजरने के दौरान दोनों बसें पहाड़ पर हुए भूस्खलन की चपेट में आ गईं। हादसे के बाद चंबा मनाली रूट की बस में से करीब 15 मिनट पहले बचाओ बचाओ की आवाजें आती रही। लेकिन मौके पर उस समय पहुंच पाना आसान नहीं था।

भारी बारिश के कारण आए मलबे व पानी से यह बस करीब एक किलोमीटर नीचे बाह गई है। भारी बारिश व अंधेरा होने के कारण प्राशसन ने देर रात शुरू हुए राहत एवं बचाव कार्य को रोकना पड़ गया। मंडी पठानकोट मार्ग पर वाहनों की आवाजाही मंडी व जोगेन्द्रनगर में रोक दी गई है, ताकि एम्बुलेंस मौके के लिए रवाना हो सकें।

{ यह भी पढ़ें:- हिमाचल में मतदान की बीच तेज हुई गुजरात की चुनावी राजनीति }

मौके पर राहत कार्य को तेजी से अंजाम देने के लिए नूरपुर से एनडीआरएफ की बटालियन को बुलाया गया है। मलबा गहरी खाई में होने और भारी बारिश के चलते राहत कार्यों में कठनाई का सामना करना पड़ रहा है।

Loading...