पाकिस्तान की मदद से हमले की साजिश रच रहे हैं लश्कर और जैश के आतंकी

atanki
पाकिस्तान की मदद से हमले की साजिश रच रहे हैं लश्कर और जैश के आतंकी

नई दिल्ली। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के निर्देश पर लश्कर और जैश के आतंकी देश में आतंकी हमले की साजिश रच रहे हैं। खुफिया एजेंसियों ने इसको लेकर अलर्ट जारी किया है। सूत्रों के मुताबिक, 15 अगस्त से पहले आतंकी हमले की साजिश रच रहे हैं। एजेंसियों से मिले इनपुट के बाद देश के सभी हिस्सों में सुरक्षा बढ़ा दी गयी है।
सूत्रों के मुताबिक हमले को अंजाम देने के लिए अफगानिस्तान के नागरिकों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Lashkar And Jaish Terrorists Plotting Attack With The Help Of Pakistan :

इसके साथ ही दूसरे इंटेलिजेंस इनपुट के मुताबिक, आतंकी संगठन आईएसआईएस के भारत में मौजूद समर्थकों के जरिए बड़े पैमाने पर हमले की साजिश रच रहा है। सूत्र बतातें हैं कि, बकरीद की नमाज के दौरान भी हमले की साजिश रची जा रही है। इसके साथ ही 15 अगस्त से पहले आतंकी सरकारी प्रतिष्ठानों को निशना बनाने की साजिश रच रहे हैं। इसके के अलावा ट्रांसपोर्ट नेटवर्क जैसे रेलवे, बस, मेट्रो और एयरपोर्ट भी आतंकियों के निशाने पर है।

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद आतंकी बौखलाए हुए हैं। इसके कारण वह बड़ी साजिश रच रहे हैं। शीर्ष खुफिया सूत्रों ने कहा कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) से लगे पीओके क्षेत्र के कोटली, रावलकोट, बाघ और मुजफ्फराबाद में आतंकी शिविर प्रत्यक्ष रूप से पाकिस्तानी सेना के सहयोग से दोबारा सक्रिय हो गए हैं जिसे देखते हुए भारतीय सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

वहीं, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कहा था कि, अगर भारत में पुलवामा जैसे हमले होते हैं तो इसके लिए भारत जिम्मेदार नहीं होगा। इमरान खान के इस बयान से साफ है कि पाकिस्तान सेना आतंकियों को संरक्षण देकर साजिश रच रही है।

नई दिल्ली। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के निर्देश पर लश्कर और जैश के आतंकी देश में आतंकी हमले की साजिश रच रहे हैं। खुफिया एजेंसियों ने इसको लेकर अलर्ट जारी किया है। सूत्रों के मुताबिक, 15 अगस्त से पहले आतंकी हमले की साजिश रच रहे हैं। एजेंसियों से मिले इनपुट के बाद देश के सभी हिस्सों में सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। सूत्रों के मुताबिक हमले को अंजाम देने के लिए अफगानिस्तान के नागरिकों का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके साथ ही दूसरे इंटेलिजेंस इनपुट के मुताबिक, आतंकी संगठन आईएसआईएस के भारत में मौजूद समर्थकों के जरिए बड़े पैमाने पर हमले की साजिश रच रहा है। सूत्र बतातें हैं कि, बकरीद की नमाज के दौरान भी हमले की साजिश रची जा रही है। इसके साथ ही 15 अगस्त से पहले आतंकी सरकारी प्रतिष्ठानों को निशना बनाने की साजिश रच रहे हैं। इसके के अलावा ट्रांसपोर्ट नेटवर्क जैसे रेलवे, बस, मेट्रो और एयरपोर्ट भी आतंकियों के निशाने पर है। जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद आतंकी बौखलाए हुए हैं। इसके कारण वह बड़ी साजिश रच रहे हैं। शीर्ष खुफिया सूत्रों ने कहा कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) से लगे पीओके क्षेत्र के कोटली, रावलकोट, बाघ और मुजफ्फराबाद में आतंकी शिविर प्रत्यक्ष रूप से पाकिस्तानी सेना के सहयोग से दोबारा सक्रिय हो गए हैं जिसे देखते हुए भारतीय सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। वहीं, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कहा था कि, अगर भारत में पुलवामा जैसे हमले होते हैं तो इसके लिए भारत जिम्मेदार नहीं होगा। इमरान खान के इस बयान से साफ है कि पाकिस्तान सेना आतंकियों को संरक्षण देकर साजिश रच रही है।