1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. अंतिम विदाई: ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की अंतिम यात्रा में उमड़ी भारी भीड़, फूलों की बारिश के साथ लगे भारत माता की जय के नारे

अंतिम विदाई: ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की अंतिम यात्रा में उमड़ी भारी भीड़, फूलों की बारिश के साथ लगे भारत माता की जय के नारे

विमान दुर्घटना में दिवंगत हुए शौर्य चक्र से सम्मानित ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह (Group Captain Varun Singh) की अंतिम यात्रा में भारी भीड़ उमड़ी। अंतिम यात्रा के दौरान फूलों की बारिश के साथ ही भारत माता की जय और वरुण सिंह (Group Captain Varun Singh) अमर रहे के नारे लगे। मिलेट्री हॉस्पिटल से उनकी अंतिम यात्रा शुरू हुई जो विश्राम घाट के लिए रवाना हुई तो फूलों की बारिश की गई।

By शिव मौर्या 
Updated Date

भोपाल। विमान दुर्घटना में दिवंगत हुए शौर्य चक्र से सम्मानित ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह (Group Captain Varun Singh) की अंतिम यात्रा में भारी भीड़ उमड़ी। अंतिम यात्रा (last journey) के दौरान फूलों की बारिश के साथ ही भारत माता की जय और वरुण सिंह (Group Captain Varun Singh) अमर रहे के नारे लगे। मिलेट्री हॉस्पिटल से उनकी अंतिम यात्रा शुरू हुई जो विश्राम घाट के लिए रवाना हुई तो फूलों की बारिश की गई।

पढ़ें :- CDS Bipin Rawat Helicopter Crash: हादसे में घायल ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का उपचार जारी, जिंदगी के लिए लड़ रहे हैं जंग

राजकीय सम्मान के साथ ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह (Group Captain Varun Singh) का बैरागढ़ विश्रामघाट में अंतिम संस्कार किया गया। बता दें कि, भोपाल में ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह (Group Captain Varun Singh) के पा​र्थिव शरीर को ससस्मान गुरुवार मिलेट्री हॉस्पिटल (Military Hospital) के मर्चुरी में रख दिया गया था। शुक्रवार सुबह दस बजे उनकी अंतिम यात्रा मिलेट्री हॉस्पिटल से शुरू हुई।

फूलों से सजे सैन्य वाहन में तिरंगे में लिपटे ग्रुप कैप्टन वरुण (Group Captain Varun Singh) के पार्थिव शरीर को जब रखा गया तो भारत माता की जय, वरुण सिंह (Group Captain Varun Singh) अमर रहे, जब तक सूरज चांद रहेगा वरुणजी का नाम रहेगा, के नारों से माहौल गूंज उठा। बता दें कि, सुबह 11 बजे बैरागढ़ विश्राामघाट पहुंची जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) भी पहुंचे।

वहां सैन्य अधिकारियों के अलावा  मंत्री विश्वास सारंग, विधायक रामेश्वर शर्मा, पीसी शर्मा आदि ने भी पुष्पचक्र से श्रद्धांजलि दी। परिवार की महिलाएं भी विश्रामघाट पर पहुंचीं और उन्होंने ग्रुप कैप्टन को अंतिम विदाई दी। उन्हें गॉड ऑफ ऑनर दिया गया और इसके बाद राजकीय सम्मान के साथ ग्रुप कैप्टन के छोटे भाई की मदद से बेटे रिद्धिमन ने मुखाग्नि दी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...