बारामूला में शहीद नितिन यादव का अंतिम संस्कार संपन्न, नम आंखों से दी गई विदाई

इटावा| जम्मू एवं कश्मीर के बारामूला में रविवार देर रात आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए बीएसएफ के जवान नितिन कुमार यादव का मंगलवार सुबह उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया। नम आंखों से ग्रामीणों और परिवार वालों ने शहीद को अंतिम विदाई दी। नितिन की मौत से परिवार सदमे में है और पूरा गांव शोक में डूबा हुआ है। राजकीय सम्मान के साथ नितिन की अंत्येष्टि हुई।




गौरतलब है कि वर्ष 2013 में नितिन बीएसएफ में भर्ती हुए थे। उनकी पहली तैनाती महाराष्ट्र में हुई थी। इसके बाद वह बंगाल सीमा पर तैनात हुए। एक महीने पहले नितिन को जम्मू एवं कश्मीर के बारामूला भेजा गया था। आतंकवादियों से मुठभेड़ में घायल बीएसएफ और सेना के जवानों में नितिन भी शामिल थे। नितिन को गंभीर हालत में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था जहां पर उनकी मौत हो गई।

सेना के अधिकारियों ने नितिन के परिजनों को सोमवार सुबह सात बजे उनके गंभीर रूप से घायल होने की खबर दी लेकिन दो घंटे बाद शहीद होने की सूचना परिजनों को मिली। यह खबर आसपास के क्षेत्र में पहुंची तो लोग शहीद के घर पहुंचने लगे। जिले के कई अधिकारी भी शोकसंतृप्त परिवार को सांत्वना देने पहुंचे। गौरतलब है कि बारामूला में भारत और पाकिस्तान के बीच हुई आतंकी मुठभेड़ में नितिन शहीद हो गए थे।