लखनऊ: शराब ठेके का विरोध कर रही महिलाओं पर बरसी लाठियां

लखनऊ| यूपी में एक तरफ सीएम योगी आदित्यनाथ महिलाओं की सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो अभियान चला रहे है, वही दूसरी तरफ उनकी ही पुलिस शराब जैसी चीजों का विरोध करने पर महिलाओं को बीच सड़क दौड़ा-दौड़ाकर पीट रही है| इतना ही नहीं अब तो शराब ठेकों के विरोध करने पर महिलाओं की भी गिरफ्तारी भी शुरू हो गई हैं|




मामला जानकीपुरम के छुइयांपुरवा चौराहे का है| यहां चौराहे पर शराब ठेका हटवाने पहुंची महिलाएं पर एसएसआई शशिकांत के आदेश पर महिला सिपाहियों ने जामकर लाठियां बरसाई| पुलिस का कहना है कि गुरुवार को जब नगर निगम की टीम सहारा स्टेट रोड की दोनों पटरियों पर अवैध कब्जे हटाने को गई, तभी छुइयापुरवा चौराहे के पास भारी संख्या में महिलाएं इकट्ठा हो गईं| महिलाओं ने नगर निगम टीम पर गुस्सा जताते हुए कहा कि आए दिन अवैध कब्जे हटाने चले आते हैं पर शराब का ठेका हटाने के नाम पर जाली हटा कर चले जाते हैं|

महिलाओं ने शराब का ठेका हटाने को लेकर नारेबाजी और हुंगामा शुरू कर दिया| महिलाओं को आक्रोशित देख एसएसआई शशिकांत ने महिला कांस्टेबल से विरोधियो पर लाठी बरसाने का आदेश दे दिया| इस दौरान कुछ महिलाओं को चोट भी आई है| इस बात से नाराज़ महिलाओं ने पुलिस के ऊपर पथराव करना शुरू कर दिया|





एसएसआई ने दी देख लेने की धमकी

पुलिस कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थी| हंगामे की सूचना पर वहां महिला मोर्चा बीजेपी से वार्ड अध्यक्ष सीमा स्वर्णकार पहुंच गई| जब उन्होने एसएसआई से बात करनी चाही तो उन्होंने उनकी कोई भी बात को सुनने से मना कर दिया और कार्रवाई में डालने पर देख लेने की धमकी भी दी| जब सीमा ने उनसे महिलाओं से हो रही बदसूलूकी का विरोध किया तो एसएसआई उनसे ही भिड़ गए|