Royal Enfield पर दर्ज हुआ मुकदमा, लगा पेटेंट के उल्लंघन का आरोप

royal
Royal Enfield पर दर्ज हुआ मुकदमा, लगा पेटेंट के उल्लंघन का आरोप

नई दिल्ली। दिग्गज बाइक निर्माता कंपनी Royal Enfield के खिलाफ ऑटो पार्ट्स बनाने वाली कंपनी Flash Electronics India ने सोमवार को अमेरिकी कोर्ट में मुकदमा दायर किया है। फ्लैश इलेक्ट्रॉनिक्स ने रॉयल एनफील्ड पर ऑटो पार्ट्स के पेटेंट चोरी का आरोप लगाया है।

Lawsuit Filed On Royal Enfield :

दरअसल, पुणे स्थित कंपनी ने बताया कि रॉयल एनफील्ड ने रेग्युलेटर रेक्टिफायर डिवाइस और इसी से संबंधित वोल्टेज को नियमित करने के उपाय पर पेटेंट का उल्लघंन किया है। इसके अलावा कंपनी ने दावा करते हुए कहा है उसके प्रोडक्ट के लिए पेटेंट यूनाइटेड स्टेट पटेंट एंड ट्रेडमार्क ऑफिस (USPTO) ने 20 फरवरी 2018 को जारी किया था।

बता दें, इससे पहले उनकी रिसर्च एंड डेवेलपमेंट टीम ने साल 2014 में ही इस उपकरण को तैयार कर लिया था और तभी से ही फ्लैश इलेक्ट्रॉनिक्स इसकी बड़ी मैन्युफैक्चरिंग और सप्लायर बनी हुई है। इतना ही नहीं, भारत में बजाज ऑटो, यामाहा, जावा मोटरसाइकिल को कलपुर्जों और इंटरनेशनल मार्केट में पोर्शे, BMW, Audi, KTM, कावासाकी, हार्ले-डेविडसन, डुकाटी, ट्रायंफ और BRP-Rotax को ऑटो पार्ट्स की सप्लाई करती है।

इतना ही नहीं फ्लैश इलेक्ट्रॉनिक्स इंडिया के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव वासदेव ने कहा, “रॉयल एनफील्ड के तीन बड़े अधिकारियों से इस मामले में कंपनी ने 12 अक्टूबर 2018 को संपर्क साधा और मामले को लेकर बातचीत से सुलझाने की बात भी कही, ताकि इस मामले पर केस दर्ज न हो। लेकिन रॉयल एनफील्ड ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया।”

नई दिल्ली। दिग्गज बाइक निर्माता कंपनी Royal Enfield के खिलाफ ऑटो पार्ट्स बनाने वाली कंपनी Flash Electronics India ने सोमवार को अमेरिकी कोर्ट में मुकदमा दायर किया है। फ्लैश इलेक्ट्रॉनिक्स ने रॉयल एनफील्ड पर ऑटो पार्ट्स के पेटेंट चोरी का आरोप लगाया है। दरअसल, पुणे स्थित कंपनी ने बताया कि रॉयल एनफील्ड ने रेग्युलेटर रेक्टिफायर डिवाइस और इसी से संबंधित वोल्टेज को नियमित करने के उपाय पर पेटेंट का उल्लघंन किया है। इसके अलावा कंपनी ने दावा करते हुए कहा है उसके प्रोडक्ट के लिए पेटेंट यूनाइटेड स्टेट पटेंट एंड ट्रेडमार्क ऑफिस (USPTO) ने 20 फरवरी 2018 को जारी किया था। बता दें, इससे पहले उनकी रिसर्च एंड डेवेलपमेंट टीम ने साल 2014 में ही इस उपकरण को तैयार कर लिया था और तभी से ही फ्लैश इलेक्ट्रॉनिक्स इसकी बड़ी मैन्युफैक्चरिंग और सप्लायर बनी हुई है। इतना ही नहीं, भारत में बजाज ऑटो, यामाहा, जावा मोटरसाइकिल को कलपुर्जों और इंटरनेशनल मार्केट में पोर्शे, BMW, Audi, KTM, कावासाकी, हार्ले-डेविडसन, डुकाटी, ट्रायंफ और BRP-Rotax को ऑटो पार्ट्स की सप्लाई करती है। इतना ही नहीं फ्लैश इलेक्ट्रॉनिक्स इंडिया के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव वासदेव ने कहा, "रॉयल एनफील्ड के तीन बड़े अधिकारियों से इस मामले में कंपनी ने 12 अक्टूबर 2018 को संपर्क साधा और मामले को लेकर बातचीत से सुलझाने की बात भी कही, ताकि इस मामले पर केस दर्ज न हो। लेकिन रॉयल एनफील्ड ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया।"