इलाहाबाद: हत्या के बाद हड़ताल पर गए प्रदेश के वकील, एसएसपी का हुआ तबादला

इलाहबाद। यूपी के इलाहाबाद में गुरूवार को सरेराह हुई अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की हत्या मामले ने पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा दिया है। प्रदेश के सभी वकीलों ने हड़ताल कर काम-काज ठप कर दिया है। वहीं इस सनसनीखेज हत्या के बाद इलाहाबाद के एसएसपी आकाश कुलहरि को हटा दिया गया है और उनकी जगह पर नितिन तिवारी को जिले की कमान सौंपी गयी है।

Lawyers Of Up On Strike Due To Murder Of Lawyer Rajesh Srivastva In Allahabad :

वकीलों की यह हड़ताल फिलहाल तीन दिनों के लिए है। इलाहाबाद में सभी अदालतों के वकील कामकाज ठप्प किए हुए हैं और सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। एसएसपी का तबादला किए जाने के बावजूद वकीलों का गुस्सा शांत नहीं हो रहा है। प्रदर्शनकारी वकीलों ने पीड़ित परिवार को पचास रूपये लाख का मुआवजा और सरकारी नौकरी दिए जाने के साथ ही वकील की हत्या करने वाले शूटरों की फ़ौरन गिरफ्तारी किए जाने और वकीलों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाने की मांग की है।

उधर, वकील राजेश श्रीवास्तव की हत्या मामले में योगी सरकार ने मृतक के परिजनों को 20 लाख रुपए मुआवजे का एलान किया है। प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने ये जानकारी दी। वहीं मामले में सियासत भी तेज हो गई है। सपा मुखिया अखिलेश यादव ने इस घटना पर योगी सरकार को घेरा है।

बता दें, गुरुवार को कर्नलगंज थाना क्षेत्र के मनमोहन पार्क के पास कचहरी जा रहे अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की बाइक सवार अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या से नाराज वकीलों ने पहले सड़क पर शव रखकर जाम लगाया और कचहरी में खराब कानून-व्यवस्था को लेकर जमकर नारेबाजी कर बवाल काटा। साथी वकील की हत्या से नाराज वकीलों ने एक बोलेरो गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया।

इलाहबाद। यूपी के इलाहाबाद में गुरूवार को सरेराह हुई अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की हत्या मामले ने पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा दिया है। प्रदेश के सभी वकीलों ने हड़ताल कर काम-काज ठप कर दिया है। वहीं इस सनसनीखेज हत्या के बाद इलाहाबाद के एसएसपी आकाश कुलहरि को हटा दिया गया है और उनकी जगह पर नितिन तिवारी को जिले की कमान सौंपी गयी है। वकीलों की यह हड़ताल फिलहाल तीन दिनों के लिए है। इलाहाबाद में सभी अदालतों के वकील कामकाज ठप्प किए हुए हैं और सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। एसएसपी का तबादला किए जाने के बावजूद वकीलों का गुस्सा शांत नहीं हो रहा है। प्रदर्शनकारी वकीलों ने पीड़ित परिवार को पचास रूपये लाख का मुआवजा और सरकारी नौकरी दिए जाने के साथ ही वकील की हत्या करने वाले शूटरों की फ़ौरन गिरफ्तारी किए जाने और वकीलों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाने की मांग की है। उधर, वकील राजेश श्रीवास्तव की हत्या मामले में योगी सरकार ने मृतक के परिजनों को 20 लाख रुपए मुआवजे का एलान किया है। प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने ये जानकारी दी। वहीं मामले में सियासत भी तेज हो गई है। सपा मुखिया अखिलेश यादव ने इस घटना पर योगी सरकार को घेरा है। बता दें, गुरुवार को कर्नलगंज थाना क्षेत्र के मनमोहन पार्क के पास कचहरी जा रहे अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की बाइक सवार अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या से नाराज वकीलों ने पहले सड़क पर शव रखकर जाम लगाया और कचहरी में खराब कानून-व्यवस्था को लेकर जमकर नारेबाजी कर बवाल काटा। साथी वकील की हत्या से नाराज वकीलों ने एक बोलेरो गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया।