खुलासा: LDA का कारनामा, सांप पकड़ने में खर्चे 50 लाख

लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण(एलडीए) में सांप पकड़ने का टेंडर काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। बता दें कि लखनऊ स्थित जनेश्वर मिश्रा पार्क में सांप पकड़ने को लेकर एलडीए ने 50 लाख रुपये खर्च कर डाले। इस मामले की जांच कर रही एसआईटी की निगाहें अब सांप पकड़ने को लेकर हुए टेंडर पर टेढ़ी हो चुकी है।

दरअसल, जनेश्वर मिश्र पार्क में आए दिन सांप निकलने शिकायतें आ रहीं थीं, जिसे देखते हुए एलडीए ने सांप पकड़ने का टेंडर निकाला था। 13 जून 2015 से सिलसिला शुरू हुआ था। ये काम 12 सपेरों को सौंपा गया था। अभी तक कुल 884 सांप पकडे जा चुके हैं। इन सांपों को पकड़ने के लिये एलडीए ने 50.14 लाख रुपए का भुगतान किया है। यानी एक सांप को पकड़ने में 5 हज़ार 672 रुपए खर्च किए गए हैं।

एलडीए के तत्कालीन वीसी सत्येंद्र सिंह की ओर से आवास राज्यमंत्री सुरेश पासी को दी गई रिपोर्ट में 13 जून 2015 से लेकर 31 मार्च 2016 तक 50,14,380 रुपये खर्च किये जाने का जिक्र है। इसमें पार्क में 884 सांप पकड़े गए हैं। बजट खर्च होने बाद 10 नवंबर 2016 को दोबारा एक और टेंडर किया गया। जांच में अनियमितता तकनीकी टीम को यह मिली कि बिना टेंडर के सांप पकड़वाने के लिए सहायक अभियंता अनूप शर्मा को 24 लाख रुपये का एडवांस भुगतान कर दिया गया।

दिसंबर 2016 में 11.55 लाख रुपए का टेंडर सांप पकड़ने के लिए पास हुआ था लेकिन जांच बैठने के बाद ये पैसा रिलीज नहीं हुआ। इनमें से अधिकतर सांप चिड़ियाघर या तो वन विभाग की टीम को हैंडओवर कर दिए जाते हैं।