एलडीए वीसी समेत 20 जिलों के डीएम के होंगे तबादले, सीएम योगी आदित्यनाथ जल्द लेंगे फैसला

नोएडा: चौदह साल बाद यूपी में बीजेपी की वापसी के साथ ही सपा-बसपा के कार्यकाल में तैनात रहे नौकरशाहों और विकास प्राधिकरण के अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। इनमें कई अफसर मायावती और अखिलेश सरकार के शासनकाल में लगातार तैनात रहे हैं। उनकी तैनाती कभी प्रशासन तो कहीं प्राधिकरण में होती रही है। प्रदेश सरकार ने बुधवार को पहली बार बड़ा प्रशासनिक फेरबदल करते हुए भारतीय प्रशासनिक सेवा के 20 अधिकारियों का तबादला कर दिया। लेकिन यही काफी नहीं है। बीस अन्य जिलों के जिलाधिकारियों के भी और भी तबादले किये जाएंगे। इतना नहीं सपा शासनकाल में तैनाती पाकर मलाई काटने वाले डीएम के तबादले किये जाएंगे। इसके अलावा विकास प्राधिकरण के भी अधिकारियों को इधर से उधर किया जा सकता है। सूत्रों की माने तो भ्रष्टाचार में डूबे इन 20 जिलों के डीएम और विकास प्राधिकरण के अधिकारियो की सूची मुख्यमंत्री को सौंप दी गई है। जल्द ही मुख्यमंत्री इस पर कोई बड़ा फैसला लेंगे। इस सूची में लखनऊ विकास प्राधिकरण के वीसी सत्येंद्र सिंह का भी नाम शामिल है।




गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने बुधवार को पहली बार बड़ा प्रशासनिक फेरबदल करते हुए भारतीय प्रशासनिक सेवा के 20 अधिकारियों का तबादला कर दिया। इस तबादले के तहत पूर्ववर्ती सरकार में प्रमुख पदों पर तैनात रहे नौ अधिकारियों को प्रतीक्षारत कर दिया गया है। इसमें अनीता सिंह, नवनीत सहगल, रमारमण, अमित कुमार घोष, दीपक अग्रवाल आदि अधिकारी शामिल हैं। इसी तरह दो अन्य अधिकारियों को इलाहाबाद में सदस्य न्यायिक राजस्व परिषद में तैनात किया गया है। लखनऊ के मण्डलायुक्त का अतिरिक्त कार्यभार भुवनेश कुमार से ले लिया गया है अभी किसी की तैनाती नहीं की गयी है।नियुक्ति विभाग के अधिकारियों के अनुसार प्रमुख सचिव धर्मार्थ कार्य, सूचना एवं पर्यटन विभाग तथा महानिदेशक पर्यटन एवं सीईओ यूपीडा एवं उपसा तथा अपर स्थानिक आयुक्त उत्तर प्रदेश नई दिल्ली के पद पर तैनात रहे नवनीत कुमार सहगल को प्रतीक्षा सूची में रखा गया है। वहीं प्रतीक्षारत व भारत सरकार से लौटे वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी को प्रमुख सचिव धर्मार्थ कार्य, सूचना एवं पर्यटन विभाग तथा महानिदेशक पर्यटन एवं सीईओ यूपीडा एवं उपसा बनाया गया है।

प्रमुख सचिव अवस्थाना एवं औद्योगिक विकास तथा एनआरआई विभाग एवं अध्यक्ष नोएडा, गौतमबुद्धनगर के पद पर तैनात रहे रमारमण को हटाते हुए उन्हें भी प्रतीक्षा सूची में रखा गया है। मेरठ के मण्डलायुक्त रहे आलोक सिन्हा को प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास तथा एनआरआई विभाग एवं अध्यक्ष नोएडा गौतमबुद्धनगर के पद पर तैनाती दी गयी है। अपर मुख्य सचिव भू-तत्व एवं खनिकर्म विभाग डा. गुरदीप सिंह को भी प्रतीक्षा सूची में रखा गया है।राजस्व परिषद लखनऊ के सदस्य राज प्रताप सिंह को अपर मुख्य सचिव भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग के पद पर तैनात करते हुए सदस्य राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश लखनऊ के पद का अतिरिक्त पदभार सौंपा गया है। प्रमुख सचिव बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग श्रीमती डिम्पल वर्मा को प्रतीक्षारत रखते हुए प्रतीक्षारत अधिकारी श्रीमती अनीता सी मेश्राम को बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग का सचिव बनाया गया है। वाणिज्य कर आयुक्त एवं प्राविधिक शिक्षा विभाग के सचिव मुकेश कुमार मेश्राम को प्राविधिक शिक्षा विभाग के सचिव के अतिरिक्त प्रभार से अवमुक्त कर दिया गया है। वह अब वाणिज्य कर आयुक्त के पद पर यथावत बने रहेंगे।

लखनऊ के मण्डलायुक्त एवं व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास के सविच भुवनेश कुमार को मण्डलायुक्त लखनऊ के अतिरिक्त प्रभार से अवमुक्त कर दिया गया है। श्री कुमार व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास के सचिव पद पर यथावत बने रहेंगे और उन्हें सचिव प्राधिविधिक शिक्षा विभाग का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।प्रबंधक निदेशक यूपी एसआईडीसी एवं उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम तथा आयुक्त एवं निदेशक उद्योग कानपुर नगर अमित कुमार घोष को प्रतीक्षा सूची में रखा गया है। आयुक्त एवं निदेशक हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग तथा प्रबंध निदेशक केस्को कानपुर नगर के पद पर तैनात रणवीर प्रसाद को वर्तमान पद के साथ प्रबन्ध निदेशक यूपीएसआईडीसी एवं उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम तथा आयुक्त एवं निदेशक उद्योग उत्तर प्रदेश कानपुर नगर का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।




इसी तरह प्रमुख सचिव नागरिक उड्डयन एवं राज्य सम्पत्ति विभाग श्रीमती अनिता सिंह, सचिव संस्कृति एवं निदेशक संस्कृति डा. हरिओम को भी प्रतीक्षारत कर दिया गया है। इलाहाबाद में तैनात आबकारी विभाग के आयुक्त मृत्युंजय कुमार नारायण को मुख्यमंत्री के सचिव पद पर तैनात करते हुए उन्हें नागरिक उड्डयन, राज्य सम्पत्ति एवं संस्कृति विभाग के सचिव तथा निदेशक संस्कृति एवं आबकारी आयुक्त इलाहाबाद के पद का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव आमोद कुमार व सचिव आवास एवं शहरी नियोजन विभाग पंधारी यादव को सदस्य (न्यायिक) राजस्व परिषद इलाहाबाद के पद पर भेजा गया है।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा एवं नोएडा गौतमबुद्धनगर दीपक अग्रवाल तथा गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विजय कुमार यादव को भी प्रतीक्षारत रखा गया है। निवेश आयुक्त उत्तर प्रदेश नई दिल्ली अमित मोहन प्रसाद को वर्तमान पद के साथ मुख्य कार्यपालक अधिकारी नोएडा एवं ग्रेटर नोएडा गौतबुद्धनगर के पद का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।

Loading...