जानिए! महिलाओं को बाल खुले रखकर क्यों नहीं सोना चाहिए

WOMAN-SLEEP

महिलाओं के बाल उनकी सुंदरता में चार चांद लगा देते हैं, पहले महिलाएं अपने बाल बांधकर रखती थीं और अब बालों को खोलकर रखने का चलन बढ़ता जा रहा है। समय कितन भी क्यों न बदल गया हो लेकिन आज भी अगर कोई शुभ कार्य किया जाता है तो महिलाएं अपने बालों को बांधकर रखती हैं।

बालों को क्यों खुला नहीं रखा जाता:

{ यह भी पढ़ें:- चमक जाएगा आपका व्यवसाय, करें ये उपाय }

हिंदू शास्त्रों में बालों को खुला रखना सही नहीं माना जाता है। खुले बालों को शोक की निशानी माना जाता था इसीलिए प्राचीन काल में महिलाएं किसी खास अवसर पर ही अपने बाल खोलती थीं।

जो महिलाएं खुले बाल रखती हैं उन पर नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव जल्दी पड़ता है और ऊपरी बाधाएं आसानी से उनके दिमाग में अपना बसेरा बना लेती हैं।

{ यह भी पढ़ें:- रविवार को बन रहा है खास योग, इन उपायों से दूर होगा बुरा समय }

रात में जब चन्द्रमा की कलाएं घटती हैं, उस दौरान मन अत्यधिक भावुक होता है और इस समय प्रेतआत्माएं बहुत ही आसानी से महिलाओं को अपने वस में कर लेती हैं।

महिलाओं के बाल उनकी सुंदरता में चार चांद लगा देते हैं, पहले महिलाएं अपने बाल बांधकर रखती थीं और अब बालों को खोलकर रखने का चलन बढ़ता जा रहा है। समय कितन भी क्यों न बदल गया हो लेकिन आज भी अगर कोई शुभ कार्य किया जाता है तो महिलाएं अपने बालों को बांधकर रखती हैं। बालों को क्यों खुला नहीं रखा जाता: हिंदू शास्त्रों में बालों को खुला रखना सही नहीं माना जाता है। खुले बालों को शोक की…
Loading...