महान फुटबॉलर पीके बनर्जी का निधन, कोलकाता के अस्पताल में ली आखिरी सांस

PK BANERJEE
महान फुटबॉलर पीके बनर्जी का निधन, कोलकाता के अस्पताल में ली आखिरी सांस

नई दिल्ली। भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान और महान खिलाड़ी प्रदीप कुमार बनर्जी का शुक्रवार को कोलकाता में निधन हो गया। प्रदीप बनर्जी के पारिवारिक सूत्रों ने निधन की पुष्टि की है। प्रदीप 83 साल के थे और पिछले कुछ समय से काफी बीमार चल रहे थे। जानकारी के मुताबिक प्रदीप बनर्जी पिछले महीने भर से सीने के संक्रमण से जूझ रहे थे।

Legendary Footballer Pk Banerjee Dies Breathed His Last In Kolkata Hospital :

बीते दिनों स्वास्थ्य खराब होने के बाद उन्हें कोलकाता के मेडिका सुपरस्पेशिएलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। प्रदीप बनर्जी कई दिनों से फुल सपोर्ट वेंटिलेटर पर थे लेकिन शुक्रवार को तमाम कोशिशों के बावजूद उन्हें नहीं बचाया जा सका। 1961 में अर्जुन पुरस्कार और 1990 में पद्म श्री से नवाजे जा चुके बनर्जी 1962 में एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम के सदस्य थे। बनर्जी ने फाइनल मैच में भारत के लिए गोल भी किया था।

अर्जुन पुरस्कार की शुरुआत 1961 में हुई थी और यह पुरस्कार पहली बार बनर्जी को ही दिया गया था। अपने करियर में पीके बनर्जी ने कुल 45 फीफा फर्स्ट क्लास मैच खेले और 14 गोल किए। हालांकि उनका करियर 85 मैचों का था, जिनमें उन्होंने कुल 65 गोल किए। तीन एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले पीके बनर्जी ने दो बार ओलंपिक में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया। फुटबॉल के लिए उनकी सेवाओं के लिए फीफा ने 2004 में अपने सर्वोच्च -फीफा ऑर्डर ऑफ मेरिट से सम्मानित किया।

नई दिल्ली। भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान और महान खिलाड़ी प्रदीप कुमार बनर्जी का शुक्रवार को कोलकाता में निधन हो गया। प्रदीप बनर्जी के पारिवारिक सूत्रों ने निधन की पुष्टि की है। प्रदीप 83 साल के थे और पिछले कुछ समय से काफी बीमार चल रहे थे। जानकारी के मुताबिक प्रदीप बनर्जी पिछले महीने भर से सीने के संक्रमण से जूझ रहे थे। बीते दिनों स्वास्थ्य खराब होने के बाद उन्हें कोलकाता के मेडिका सुपरस्पेशिएलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। प्रदीप बनर्जी कई दिनों से फुल सपोर्ट वेंटिलेटर पर थे लेकिन शुक्रवार को तमाम कोशिशों के बावजूद उन्हें नहीं बचाया जा सका। 1961 में अर्जुन पुरस्कार और 1990 में पद्म श्री से नवाजे जा चुके बनर्जी 1962 में एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम के सदस्य थे। बनर्जी ने फाइनल मैच में भारत के लिए गोल भी किया था। अर्जुन पुरस्कार की शुरुआत 1961 में हुई थी और यह पुरस्कार पहली बार बनर्जी को ही दिया गया था। अपने करियर में पीके बनर्जी ने कुल 45 फीफा फर्स्ट क्लास मैच खेले और 14 गोल किए। हालांकि उनका करियर 85 मैचों का था, जिनमें उन्होंने कुल 65 गोल किए। तीन एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले पीके बनर्जी ने दो बार ओलंपिक में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया। फुटबॉल के लिए उनकी सेवाओं के लिए फीफा ने 2004 में अपने सर्वोच्च -फीफा ऑर्डर ऑफ मेरिट से सम्मानित किया।