स्वाति सिंह के समर्थन में उतरे बीजेपी एमएलसी, मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

swati singh
स्वाति सिंह के समर्थन में उतरे बीजेपी एमएलसी, मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

लखनऊ। सीओ को धमकाने के मामले में फंसी योगी सरकार की मंत्री स्वाती सिंह के समर्थन में बीजेपी एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह उतर आए हैं। देवेंद्र प्रताप सिंह ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। उन्होंने सीओ को निलंबित करने की मांग की है। देवेंद्र सिंह ने पत्र में लिखा है कि, संसदीय जनतंत्र में निर्वाचित सरकार के अधीन अपने दायित्वों का निर्वहन करना प्रशासिनक अधिकारियों की जिम्मेदारी है।

Letter Written To Bjp Mlc Chief Minister Yogi In Support Of Swati Singh :

कोई भी जनप्रतिनिधि या मंत्री जनसमस्याओं के समाधान के लिए किसी अधिकारी से याचक भाव में बात नहीं कर सकता। जनहित में निर्देश देना जनप्रतिनिधि का विधायी अधिकार है। पत्र में उन्होंने लिखा है कि स्वाति सिंह ने ऐसा कुछ नहीं कहा जो संसदीय गरिमा के विपरीत हो।

बल्कि अधिकारी ने मंत्री से हुई बातचीत को स्वयं वायरल कर प्रशासनिक सेवा नियमावली का उल्लंघन किया है। एमएलसी ने सीओ पर कार्रवाई की मांग की है। वहीं, बीजेपी नेता को छोड़ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल यादव ने स्वाति सिंह का बचाव किया। उन्होंने कहा कि इस बात को हम तूल नहीं देंगे। लोकतंत्र में जनप्रतिनिधि ऊपर है। उससे भी ऊपर मंत्री है।

वह प्रोटोकॉल में है। उन्होंने कहा कि मंत्री तो अधिकारी को हड़का ही सकता है। बता दें कि, लखनऊ कैंट की सीओ डॉ. बीनू सिंह को धमकी देने के मामले में मंत्री स्वाति सिंह को सीएम योगी ने तलब किया था, साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने डीजीपी से पूरे मामले की रिपोर्ट भी मांगी।

लखनऊ। सीओ को धमकाने के मामले में फंसी योगी सरकार की मंत्री स्वाती सिंह के समर्थन में बीजेपी एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह उतर आए हैं। देवेंद्र प्रताप सिंह ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। उन्होंने सीओ को निलंबित करने की मांग की है। देवेंद्र सिंह ने पत्र में लिखा है कि, संसदीय जनतंत्र में निर्वाचित सरकार के अधीन अपने दायित्वों का निर्वहन करना प्रशासिनक अधिकारियों की जिम्मेदारी है। कोई भी जनप्रतिनिधि या मंत्री जनसमस्याओं के समाधान के लिए किसी अधिकारी से याचक भाव में बात नहीं कर सकता। जनहित में निर्देश देना जनप्रतिनिधि का विधायी अधिकार है। पत्र में उन्होंने लिखा है कि स्वाति सिंह ने ऐसा कुछ नहीं कहा जो संसदीय गरिमा के विपरीत हो। बल्कि अधिकारी ने मंत्री से हुई बातचीत को स्वयं वायरल कर प्रशासनिक सेवा नियमावली का उल्लंघन किया है। एमएलसी ने सीओ पर कार्रवाई की मांग की है। वहीं, बीजेपी नेता को छोड़ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल यादव ने स्वाति सिंह का बचाव किया। उन्होंने कहा कि इस बात को हम तूल नहीं देंगे। लोकतंत्र में जनप्रतिनिधि ऊपर है। उससे भी ऊपर मंत्री है। वह प्रोटोकॉल में है। उन्होंने कहा कि मंत्री तो अधिकारी को हड़का ही सकता है। बता दें कि, लखनऊ कैंट की सीओ डॉ. बीनू सिंह को धमकी देने के मामले में मंत्री स्वाति सिंह को सीएम योगी ने तलब किया था, साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने डीजीपी से पूरे मामले की रिपोर्ट भी मांगी।