लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी बने उपसेना प्रमुख, 25 से संभालेंगे पदभार, जानिए इनका पूरा परिचय

SK Saini
लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी बने उपसेना प्रमुख, 25 से संभालेंगे पदभार, जानिए इनका पूरा परिचय

नई दिल्ली। भारतीय सेना के दक्षिणी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी 25 जनवरी को नए उप सेना प्रमुख के रूप में शपथ लेंगे। यह पद जनरल मनोज मुकुंद नरवणे के सेना प्रमुख बनने के बाद से खाली है। यह सीडीसी जनरल बिपिन रावत की अध्यक्षता में सैन्य मामलों के विभाग के माध्यम से जारी एक वरिष्ठ सैन्य नियुक्ति का पहला आदेश भी है।

Lieutenant General Sk Saini Becomes Deputy Army Chief Will Take Over From 25 Know His Full Introduction :

बता दें कि, लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी सैनिक स्कूल कपूरथला और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला के पूर्व छात्र हैं। वर्ष 1981 जून में सातवीं जाट बटालियन के रूप में कमीशन दिया गया था। उन्होंने अपनी बटालियन माउंटेन ब्रिगेड, जम्मू-कश्मीर में एक काउंटर इंसर्जेंसी फोर्स और वेस्टर्न थिएटर में एक कोर की कमान संभाली है।

उन्होंने अपनी बटालियन (7 जाट) जम्मू-कश्मीर में एक आतंकवाद विरोधी बल की कमान संभाली। उन्होंने दक्षिणी सेना के पुणे मुख्यालय की कमान संभालने से पहले पश्चिमी थिएटर में अधिकारी के तौर पर काम किया। सैनी राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के प्रशिक्षण केंद्र, राष्ट्रीय रक्षा कॉलेज, नई दिल्ली में वरिष्ठ निर्देशन स्टाफ और भारतीय सैन्य अकादमी के कमांडेंट, देहरादून में हथियार प्रशिक्षक भी रह चुके हैं।

नई दिल्ली। भारतीय सेना के दक्षिणी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी 25 जनवरी को नए उप सेना प्रमुख के रूप में शपथ लेंगे। यह पद जनरल मनोज मुकुंद नरवणे के सेना प्रमुख बनने के बाद से खाली है। यह सीडीसी जनरल बिपिन रावत की अध्यक्षता में सैन्य मामलों के विभाग के माध्यम से जारी एक वरिष्ठ सैन्य नियुक्ति का पहला आदेश भी है। बता दें कि, लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी सैनिक स्कूल कपूरथला और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला के पूर्व छात्र हैं। वर्ष 1981 जून में सातवीं जाट बटालियन के रूप में कमीशन दिया गया था। उन्होंने अपनी बटालियन माउंटेन ब्रिगेड, जम्मू-कश्मीर में एक काउंटर इंसर्जेंसी फोर्स और वेस्टर्न थिएटर में एक कोर की कमान संभाली है। उन्होंने अपनी बटालियन (7 जाट) जम्मू-कश्मीर में एक आतंकवाद विरोधी बल की कमान संभाली। उन्होंने दक्षिणी सेना के पुणे मुख्यालय की कमान संभालने से पहले पश्चिमी थिएटर में अधिकारी के तौर पर काम किया। सैनी राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के प्रशिक्षण केंद्र, राष्ट्रीय रक्षा कॉलेज, नई दिल्ली में वरिष्ठ निर्देशन स्टाफ और भारतीय सैन्य अकादमी के कमांडेंट, देहरादून में हथियार प्रशिक्षक भी रह चुके हैं।