कश्मीर पर PAK राजदूत के बयान पर भड़कीं अफगान राजदूत, कहा- गैर जिम्मेदाराना बयानबाज़ी बंद करो

rajdut
कश्मीर पर PAK राजदूत के बयान पर भड़कीं अफगान राजदूत, कहा- गैर जिम्मेदाराना बयानबाज़ी बंद करो

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के मामले पर पाकिस्तान (Pakistan) पूरी दुनिया में अलग-थलग पड़ गया है। अब पाकिस्तान को गैर ज़िम्मेदाराना बयानबाज़ी के लिए अफगानिस्तान (Afghanistan) ने भी लताड़ लगाई है। पिछले दिनों पाकिस्तान ने कहा था कि कश्मीर के मौजूदा हालात से अफगानिस्तान में चल रहे शांति प्रयासों पर असर पड़ेगा। उनके इस बयान पर अमेरिका में अफगानिस्तान की राजदूत पाक राजदूत के बयान की निंदा करते हुए इसे लापरवाह, अनुचित और गैर-जिम्मेदाराना बताया है। पाकिस्तानी राजदूत ने बयान में कहा था कि कश्मीर में मौजूदा तनाव के कारण अफगानिस्तान में शांति की प्रक्रिया पर असर पड़ सकता है।

Linking Kashmir With Our Peace Efforts Is Reckless Afghan Diplomat Slams Pakistani Counterpart :

गैर-जिम्मेदाराना बयान

अमेरिका में अफगानिस्तान की राजदूत रोया रहमानी ने कहा कि इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफगानिस्तान अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत असद मजीद खान के उस दावे को पूरी तरह खारिज करता है कि कश्मीर में जारी तनाव अफगानिस्तान की शांति प्रक्रिया को काफी प्रभावित कर सकता है। उन्होंने अपने बयान में कहा, ‘ऐसा कोई बयान जो कश्मीर के हालात को अफगान शांति प्रयासों से जोड़ता है वो दुस्साहसी, अनुचित और गैर-जिम्मेदाराना है।’

अफगानिस्तान में हिंसा भड़काना चाहता है पाकिस्तान

कश्मीर को भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मामला बताते हुए रहमानी ने कहा कि उनके देश का मानना है कि कश्मीर मुद्दे से अफगानिस्तान को जानबूझकर जोड़ने का पाकिस्तान का मकसद अफगान की धरती पर जारी हिंसा को और बढ़ाना है। रहमानी ने कहा कि उनके पाकिस्तानी समकक्ष का बयान उन सकारात्मक और रचनात्मक मुलाकात के ठीक विपरीत है जो अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की हालिया यात्रा के दौरान उनके, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान तथा पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के बीच हुई थी।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के मामले पर पाकिस्तान (Pakistan) पूरी दुनिया में अलग-थलग पड़ गया है। अब पाकिस्तान को गैर ज़िम्मेदाराना बयानबाज़ी के लिए अफगानिस्तान (Afghanistan) ने भी लताड़ लगाई है। पिछले दिनों पाकिस्तान ने कहा था कि कश्मीर के मौजूदा हालात से अफगानिस्तान में चल रहे शांति प्रयासों पर असर पड़ेगा। उनके इस बयान पर अमेरिका में अफगानिस्तान की राजदूत पाक राजदूत के बयान की निंदा करते हुए इसे लापरवाह, अनुचित और गैर-जिम्मेदाराना बताया है। पाकिस्तानी राजदूत ने बयान में कहा था कि कश्मीर में मौजूदा तनाव के कारण अफगानिस्तान में शांति की प्रक्रिया पर असर पड़ सकता है। गैर-जिम्मेदाराना बयान अमेरिका में अफगानिस्तान की राजदूत रोया रहमानी ने कहा कि इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफगानिस्तान अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत असद मजीद खान के उस दावे को पूरी तरह खारिज करता है कि कश्मीर में जारी तनाव अफगानिस्तान की शांति प्रक्रिया को काफी प्रभावित कर सकता है। उन्होंने अपने बयान में कहा, 'ऐसा कोई बयान जो कश्मीर के हालात को अफगान शांति प्रयासों से जोड़ता है वो दुस्साहसी, अनुचित और गैर-जिम्मेदाराना है।' अफगानिस्तान में हिंसा भड़काना चाहता है पाकिस्तान कश्मीर को भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मामला बताते हुए रहमानी ने कहा कि उनके देश का मानना है कि कश्मीर मुद्दे से अफगानिस्तान को जानबूझकर जोड़ने का पाकिस्तान का मकसद अफगान की धरती पर जारी हिंसा को और बढ़ाना है। रहमानी ने कहा कि उनके पाकिस्तानी समकक्ष का बयान उन सकारात्मक और रचनात्मक मुलाकात के ठीक विपरीत है जो अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की हालिया यात्रा के दौरान उनके, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान तथा पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के बीच हुई थी।