मेसी करेंगे 377 करोड़ रूपये की मदद, बार्सिलोना के खिलाड़ी भी अपने वेतन में करेंगे 70 फीसदी की कटौती

messi
मेसी करेंगे 377 करोड़ रूपये की मदद, बार्सिलोना के खिलाड़ी भी अपने वेतन में करेंगे 70 फीसदी की कटौती

नई दिल्ली। दुनिया के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी ने एक बार फिर से दरियादिली दिखाई है। उन्होंने कहा है कि वे बार्सिलोना के खिलाड़ी वेतन में 70 प्रतिशत कटौती करेंगे। स्पेन में कोरोनावायरस के कारण हजारों लोगों की जान गई है। मेसी वहां बचपन से खेलते आ रहे हैं। उन्होंने कोरोना पीड़ितों के लिए 8 करोड़ रुपए पहले ही दान किए थे। अब वे क्लब के कर्मचारियों को वेतन मिलने और कोरोना पीड़ितों के मदद के लिए सैलरी में से 354 करोड़ रुपए कटवाएंगे।

Lionel Messi Announces Fc Barcelona Players Taking 70 Per Cent Cut On Salaries Amid Coronavirus :

वहीं बार्सिलोना के खिलाड़ी वेतन में 70 प्रतिशत कटौती से वित्तीय योगदान करेंगे ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि क्लब के दूसरे कर्मचारियों को स्पेन में इस मुश्किल स्थिति में पूरा वेतन दिया जाये। अपने इंस्टाग्राम पर लंबे संदेश में मेस्सी ने बार्सीलोना क्लब के बोर्ड की आलोचना भी की। देश अभी कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है। स्पेन के अन्य क्लबों ने भी अस्थायी रूप से वेतन में कटौती की है।

मेसी ने अपने इंस्टाग्राम पर पेज पर ये एलान करते हुए लिखा कि, ‘यह घोषणा करने का समय आ गया कि हमारी ओर से भी राज्य में उत्पन्न हुई आपात स्थिति के दौरान वेतन में से 70 प्रतिशत की कटौती की जाएगी। हम भी योगदान करेंगे ताकि क्लब के कर्मचारियों को इन हालात में अपना पूरा वेतन मिल सके। हम साथ ही स्पष्ट करना चाहते हैं कि हमारी इच्छा थी कि हम अपने वेतन का हिस्सा दें क्योंकि हम पूरी तरह समझते हैं कि यह बहुत मुश्किल स्थिति है। हमने हमेशा क्लब की मदद की है, जब भी हमसे पूछा गया है। कभी कभार हमने खुद ही ऐसा किया है, जब हमें लगा कि यह जरूरी और अहम है।’

मेसी ने आगे लिखा कि, ‘इसलिए यह कोई हैरानी की बात नहीं है कि क्लब में कुछ लोग हमें परखने के लिए दबाव डालने की कोशिश कर रहे थे जबकि हम हमेशा जानते थे कि हम ऐसा करेंगे।’ जल्द ही मेस्सी का संदेश बार्सिलोना के साथियों ने पोस्ट कर दिया जिसमें गेरार्ड पिके, सर्गियो बास्केट, लुई सुआरेज, जोर्डी एल्बा, एंटोइन ग्रिजमान, फ्रेंकी डि जोंग, आर्टुरो विडाल और मार्क-आंद्रे टर स्टेगन भी शामिल हैं। पिछले कुछ महीनों से खिलाड़ियों और क्लब के अधिकारियों के बीच तनाव चल रहा है।

बता दें कि कोरोना के चलते पूरी दुनिया में जहां 7 लाख से ज्यादा लोग इससे प्रभावित हो चुके हैं तो वहीं अब तक इस वायरस के चलते 35 हजार से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं।

 

नई दिल्ली। दुनिया के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी ने एक बार फिर से दरियादिली दिखाई है। उन्होंने कहा है कि वे बार्सिलोना के खिलाड़ी वेतन में 70 प्रतिशत कटौती करेंगे। स्पेन में कोरोनावायरस के कारण हजारों लोगों की जान गई है। मेसी वहां बचपन से खेलते आ रहे हैं। उन्होंने कोरोना पीड़ितों के लिए 8 करोड़ रुपए पहले ही दान किए थे। अब वे क्लब के कर्मचारियों को वेतन मिलने और कोरोना पीड़ितों के मदद के लिए सैलरी में से 354 करोड़ रुपए कटवाएंगे। वहीं बार्सिलोना के खिलाड़ी वेतन में 70 प्रतिशत कटौती से वित्तीय योगदान करेंगे ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि क्लब के दूसरे कर्मचारियों को स्पेन में इस मुश्किल स्थिति में पूरा वेतन दिया जाये। अपने इंस्टाग्राम पर लंबे संदेश में मेस्सी ने बार्सीलोना क्लब के बोर्ड की आलोचना भी की। देश अभी कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है। स्पेन के अन्य क्लबों ने भी अस्थायी रूप से वेतन में कटौती की है।
मेसी ने अपने इंस्टाग्राम पर पेज पर ये एलान करते हुए लिखा कि, ‘यह घोषणा करने का समय आ गया कि हमारी ओर से भी राज्य में उत्पन्न हुई आपात स्थिति के दौरान वेतन में से 70 प्रतिशत की कटौती की जाएगी। हम भी योगदान करेंगे ताकि क्लब के कर्मचारियों को इन हालात में अपना पूरा वेतन मिल सके। हम साथ ही स्पष्ट करना चाहते हैं कि हमारी इच्छा थी कि हम अपने वेतन का हिस्सा दें क्योंकि हम पूरी तरह समझते हैं कि यह बहुत मुश्किल स्थिति है। हमने हमेशा क्लब की मदद की है, जब भी हमसे पूछा गया है। कभी कभार हमने खुद ही ऐसा किया है, जब हमें लगा कि यह जरूरी और अहम है।' मेसी ने आगे लिखा कि, 'इसलिए यह कोई हैरानी की बात नहीं है कि क्लब में कुछ लोग हमें परखने के लिए दबाव डालने की कोशिश कर रहे थे जबकि हम हमेशा जानते थे कि हम ऐसा करेंगे।' जल्द ही मेस्सी का संदेश बार्सिलोना के साथियों ने पोस्ट कर दिया जिसमें गेरार्ड पिके, सर्गियो बास्केट, लुई सुआरेज, जोर्डी एल्बा, एंटोइन ग्रिजमान, फ्रेंकी डि जोंग, आर्टुरो विडाल और मार्क-आंद्रे टर स्टेगन भी शामिल हैं। पिछले कुछ महीनों से खिलाड़ियों और क्लब के अधिकारियों के बीच तनाव चल रहा है। बता दें कि कोरोना के चलते पूरी दुनिया में जहां 7 लाख से ज्यादा लोग इससे प्रभावित हो चुके हैं तो वहीं अब तक इस वायरस के चलते 35 हजार से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं।