खुलासा : जाकिर नाईक की बाते सुनकर मंदिर के प्रसाद में जहर मिलाना चाहते थे आतंकी

zakir naik
खुलासा : जाकिर नाईक की बाते सुनकर मंदिर के प्रसाद में जहर मिलाना चाहते थे आतंकी

नई दिल्ली। विवादित उपदेशक जाकिर नाइक की बातें सुनकर कुछ आतंकियों ने मुंबई के एक मंदिर के प्रसाद में जहर मिलाने की योजना बनाई थी। इसका खुलासा मुम्बेश्वर मंदिर से ​गिरफ्तार किए गए आतंकियों की चार्जशीट में हुआ है, जो पुलिस ने मुंबई की एक अदालत में दाखिल किया है। बता दें कि मुंबई स्थित मुम्बेश्वर मंदिर में नरसंहार की कथित योजना बनाते वक्त पुलिस ने इन आतंकियों को गिरफ्तार किया था। ये आतंकी जाकिर नाइक से प्रेरित थे। ये आतंकी आईएस से प्रेरित एक आतंकी समूह ‘उम्मत-ए- मोहम्मदिया’ के सदस्य थे।

Listening To Zakir Naiks Words Terrorists Wanted To Add Poison To Temple Offerings :

बता दें कि पुलिस द्वारा दाखिल चार्जशीट में कहा गया है कि गिरफ्तार आतंकवादियों ने मंदिर के प्रसाद में जहर मिलाने की कोशिश की थी। इसके पहले उन लोगों ने विस्फोटक और जहर बनाने का बाकायदा प्रशिक्षण लिा था। महाराष्ट्र ATS ने उम्मत-ए- मोहम्मदिया समूह के 10 सदस्यों को इस साल जनवरी में राज्य के मुंब्रा और औरंगाबाद से गिरफ्तार किया था। इन लोगों के तार कथित तौर पर आतंकी संगठन आईएस से जुड़े हैं।
वहीं चार्जशीट के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों में शामिल ताल्हा पोट्रिक ने प्रसाद में जहर मिलाने की कोशिश की थी। एटीएस ने इस समूह के नेतृत्वकर्ता के तौर पर अबू हमजा की पहचान की है। बता दें कि इन लोगों के सोशल मीडिया प्रोफाइल पर कई ऐसे वीडियो मौजूद हैं, जिनमें नाइक की मौजूदगी है।

नई दिल्ली। विवादित उपदेशक जाकिर नाइक की बातें सुनकर कुछ आतंकियों ने मुंबई के एक मंदिर के प्रसाद में जहर मिलाने की योजना बनाई थी। इसका खुलासा मुम्बेश्वर मंदिर से ​गिरफ्तार किए गए आतंकियों की चार्जशीट में हुआ है, जो पुलिस ने मुंबई की एक अदालत में दाखिल किया है। बता दें कि मुंबई स्थित मुम्बेश्वर मंदिर में नरसंहार की कथित योजना बनाते वक्त पुलिस ने इन आतंकियों को गिरफ्तार किया था। ये आतंकी जाकिर नाइक से प्रेरित थे। ये आतंकी आईएस से प्रेरित एक आतंकी समूह ‘उम्मत-ए- मोहम्मदिया’ के सदस्य थे। बता दें कि पुलिस द्वारा दाखिल चार्जशीट में कहा गया है कि गिरफ्तार आतंकवादियों ने मंदिर के प्रसाद में जहर मिलाने की कोशिश की थी। इसके पहले उन लोगों ने विस्फोटक और जहर बनाने का बाकायदा प्रशिक्षण लिा था। महाराष्ट्र ATS ने उम्मत-ए- मोहम्मदिया समूह के 10 सदस्यों को इस साल जनवरी में राज्य के मुंब्रा और औरंगाबाद से गिरफ्तार किया था। इन लोगों के तार कथित तौर पर आतंकी संगठन आईएस से जुड़े हैं। वहीं चार्जशीट के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों में शामिल ताल्हा पोट्रिक ने प्रसाद में जहर मिलाने की कोशिश की थी। एटीएस ने इस समूह के नेतृत्वकर्ता के तौर पर अबू हमजा की पहचान की है। बता दें कि इन लोगों के सोशल मीडिया प्रोफाइल पर कई ऐसे वीडियो मौजूद हैं, जिनमें नाइक की मौजूदगी है।