1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. कोरोना काल में रहते हैं अकेले तो सुने मधुर संगीत, परिजनों का हाल चाल लेते रहें

कोरोना काल में रहते हैं अकेले तो सुने मधुर संगीत, परिजनों का हाल चाल लेते रहें

कोरोना वायरस के संक्रमण से इन दिनों देश जूझ रहा है। महामारी के इस कठिन दौर में बच्चे, महिलाएं ,युवक ,युवतियां, वरिष्ठ नागरिक सभी पाबंदियों के दौर से गुजर रहे है। सोशल मीडिया, टीवी, अखबारों के पन्नों से कोरोना वायरस के तेज संक्रमण की डरा देने खबरें चिंता पैदा करती है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

लखनऊ: कोरोना वायरस के संक्रमण से इन दिनों देश जूझ रहा है। महामारी के इस कठिन दौर में बच्चे, महिलाएं ,युवक ,युवतियां, वरिष्ठ नागरिक सभी पाबंदियों के दौर से गुजर रहे है। सोशल मीडिया, टीवी, अखबारों के पन्नों से कोरोना वायरस के तेज संक्रमण की डरा देने खबरें चिंता पैदा करती है। कोरोना वायरस के  इस दौर में परिवार के साथ रहने वाले सदस्यों की तुलना में अकेले किसी शहर में रहने वाले लोगों को ज्यादा डर सताता है।

पढ़ें :- Petrol-Diesel Price: पेट्रोल डीजल के दाम ने फिर भरी उड़ान, जाने अपने शहर में तेलों के दाम

कोरोना वायरस  के आंकड़ों की खबरें और अलग-अलग जगहों की कहानियां पढ़कर अकेले रहने वाले व्यक्ति के दिमाग पर भी इसका बुरा असर पड़ता है। इससे तनाव और चिंता ज्यादा बढ़ जाती है। कई बार हल्का जुकाम और सिर दर्द होने पर भी कोरोना वायरस के लक्षण और अन्य चीजें दिमाग में आने लगती हैं।

इस दौर में मानसिक स्थिति को मजबूत रखने की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। अकेले रहने के दौरान मानसिक तनाव से बचते हुए महामारी की इस लड़ाई को मात देने का हौसला और आत्मविश्वास बनाए रखना एक चुनौती है। ऐसे में कुछ खास बातों पर विशेष ध्यान देने से व्यक्ति साकारात्मक ऊर्जा से लबालब भरा रह सकता है।

विचिलत करने वाली तस्वीर और खबर से बचें

कोरोना से जुड़ी हुई खबर ही मन को विचलित करती है। ऐसे में यह आवश्यक हो जाता है कि प्रमाणिक खबरों को  ही देखने ,सुनने और पढ़ने का प्रयास करें। संभव हो तो इसके लिए कुछ निश्चित समय निर्धारित कर लें। ये महामारी है इसकी तस्वीर बहुत विकृत हो सकती है। ऐसे में विचिलत करने वाली तस्वीर और खबर से बचें।

पढ़ें :- Covid Vaccine से मौत पर सरकार ने SC में दिया हलफनामा, तो कांग्रेस बोली-'जिम्मेदारियों' से भागना उनकी आदत है

अकेले रहने के दौरान कई तरह के नकारात्मक विचार दिमाग में आते हैं। इससे बचने का सबसे बेहतर उपाय खुद को व्यस्त रखना है। इससे आपका ध्यान कोरोना वायरस की बजाय कहीं और होगा। ज्यादा से ज्यादा रुटीन फॉलो करने का प्रयास करें, एक बार ऐसा करना आपको सुस्ती का अहसास दिला सकता है लेकिन लय पकड़ने के बाद आपको मानसिक तौर पर व्यस्त रुटीन से फायदा होगा।

मधुर संगीत के बहुत फायदे है। मधुर संगीत सुनने से मन हल्का और तन चुस्त रहता है। रचनात्मकता बनी रहती है।

फोन पर अपने प्रियजनों और परिजनों का हाल चाल लेते रहें।

पढ़ें :- Vinay Pathak case : ठेका हरियाणा की कंपनी को लखनऊ में छपवाए प्रश्नपत्र, रिमांड पर लेने की तैयारी

ध्यान और योग करने से भी मन को शांति मिलती है। दिनचर्या की शुरुआत इससे करने से दिन भर मन प्रसन्न रहता है और दिमाग शांत रहता है

पूरी नींद लेना जरूरी है। देर तक जागने पर कई तरह की बातें दिमाग में आती है। इससे बचने के लिए समय पर सोना उचित उपाय है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...