अगले कुछ वर्षों में हमारी अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगी : वित्त मंत्री

f

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार का पूर्ण आम बजट संसद भवन में पेश कर रही हैं। वित्त मंत्री ने सुबह 11 बजे अपना बजट भाषण पढऩा शुरू किया। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट लेकर भी चिराग जलता है।

Live India Budget 2019 Live Speech Aam Budget Live Updates Finance Minister Nirmala Sitharaman :

अगले कुछ वर्षों में हमारी अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगी। बजट में न्यू इंडिया पर जोर है। देश का हर व्यक्ति बदलाव महसूस कर रहा है। वर्तमान में यह छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है जोकि पहले 11वें नंबर पर थी। हमने अपनी योजनाओं पर अमल किया है।

खाद्य सुरक्षा पर खर्च दोगुना किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हर लक्ष्य पूरा करेंगे। वित्त मंत्री ने कहा कि मुद्रा लोन के जरिये लोगों की जिंदगी में बदलाव आया है। सरकारी प्रकिया को और सरल बनाएंगे। देश को प्रदूषण मुक्त बनाने का लक्ष्य है। इस बार बजट को बहीखाता का नाम दिया गया है।

इस बजट में संभावित रूप से किसानों, कारोबारियों, बुजुर्गों और युवाओं का खास ख्याल रखा जा सकता है। इससे पहले गुरुवार को संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया गया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक सर्वे को ऊपरी सदन राज्यसभा में पेश किया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। परंपरा के मुताबिक उन्होंने राष्ट्रपति से बजट पेश करने की अनुमति ली।

इसके बाद वित्त मंत्री सुबह करीब 10 बजे संसद भवन पहुंची, जिसके बाद मोदी कैबिनेट की अहम बैठक हुई। इसके बाद 11 बजे निर्मला सीतारमण ने बजट पेश किया। खास बात यह है कि इस बार बजट की कॉपी ब्रीफकेस के बजाय लाल कपड़े में लिपटी हुई है। इस बार ब्रीफकेस की परंपरा छोड़कर लाल रंग के बैग में रखी बजट की कॉपी के संबंध में मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम ने भी जानकारी दी उन्होंने कहा है कि यह हमारी भारतीय परंपरा में है।

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार का पूर्ण आम बजट संसद भवन में पेश कर रही हैं। वित्त मंत्री ने सुबह 11 बजे अपना बजट भाषण पढऩा शुरू किया। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट लेकर भी चिराग जलता है। अगले कुछ वर्षों में हमारी अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगी। बजट में न्यू इंडिया पर जोर है। देश का हर व्यक्ति बदलाव महसूस कर रहा है। वर्तमान में यह छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है जोकि पहले 11वें नंबर पर थी। हमने अपनी योजनाओं पर अमल किया है। खाद्य सुरक्षा पर खर्च दोगुना किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हर लक्ष्य पूरा करेंगे। वित्त मंत्री ने कहा कि मुद्रा लोन के जरिये लोगों की जिंदगी में बदलाव आया है। सरकारी प्रकिया को और सरल बनाएंगे। देश को प्रदूषण मुक्त बनाने का लक्ष्य है। इस बार बजट को बहीखाता का नाम दिया गया है। इस बजट में संभावित रूप से किसानों, कारोबारियों, बुजुर्गों और युवाओं का खास ख्याल रखा जा सकता है। इससे पहले गुरुवार को संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया गया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक सर्वे को ऊपरी सदन राज्यसभा में पेश किया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। परंपरा के मुताबिक उन्होंने राष्ट्रपति से बजट पेश करने की अनुमति ली। इसके बाद वित्त मंत्री सुबह करीब 10 बजे संसद भवन पहुंची, जिसके बाद मोदी कैबिनेट की अहम बैठक हुई। इसके बाद 11 बजे निर्मला सीतारमण ने बजट पेश किया। खास बात यह है कि इस बार बजट की कॉपी ब्रीफकेस के बजाय लाल कपड़े में लिपटी हुई है। इस बार ब्रीफकेस की परंपरा छोड़कर लाल रंग के बैग में रखी बजट की कॉपी के संबंध में मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम ने भी जानकारी दी उन्होंने कहा है कि यह हमारी भारतीय परंपरा में है।