PM मोदी का पलटवार, राहुल ना बोलते तो आता भूकंप

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। बीएचयू में आयोजित संस्कृति महोत्सव में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, बीएचयू में महामना मालवीय कैंसर सेंटर बनेगा। इससे यूपी और बिहार के लोगों को फायदा होगा। पीएम मोदी वाराणसी में 2100 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का शुभारंभ और लोकर्पण भी करेंगे।

बीएचयू के कार्यक्रम बाद डीएलडब्ल्यू मैदान में पीएम मोदी ने ESIC सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल की भी नींव रखी। नोटबंदी के फैसले का बचाव करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर भी पलटवार किया। प्रधानमंत्री ने चुटकी लेते हुए कहा कि राहुल गांधी बोलने लगे हैं तो लोग भी हैरान हैं। भ्रष्टाचार के आरोपों पर पीएम ने कहा, पता नहीं चल रहा है कि राहुल गांधी अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश कर रहे हैं या मेरा। देश के लोग सब जानते हैं और वे सरकार के साथ हैं।




राहुल पर मोदी ने ली चुटकी

मोदी ने कहा, “मुझे खुशी है कि राहुल गांधी बोलना सीख रहे हैं। बोलना शुरू किया है, मेरी खुशी का ठिकाना नहीं है।” राहुल के भूकंप वाले बयान पर मोदी ने कहा, “अच्‍छा हुआ वह कुछ तो बोले। ना बोलते तो बड़ा भूकंप आ जाता। इतना बड़ा भूकंप की देश 10 साल तक उससे निपट नहीं पाता। बोलने लगे तो भूकंप की संभावना भी खत्म हो गई।”




विरोधियों की तुलना पाक से की

मोदी ने कहा, “देश ईमानदारी के रास्ते पर चल रहा है और विरोधी अपना संतुलन खो रहे हैं। मै राजनेताओं से कहना चाहता हूं कि सवा सौ करोड़ देशवासी अपने स्वार्थ के लिए नहीं, देश के लिए लाइन में लगे हैं। इनको जितना नमन करें कम है। मोदी ने कहा, “आपको पता है कि पाकिस्‍तान घुसैपठियों को भारत में भेजने के लिए सीमा पर फायरिंग शुरू कर देता है। इससे सुरक्षाबलों का ध्‍यान भटक जाता है और आतंकी लपक कर घुस जाते हैं। संसद में आपने देखा होगा, विरोधी सदन ना चलने के कितने ऐसे ही कार्य कर रहे है। इससे ध्‍यान भटकाया जाता है। बेईमानों को बचाने के लिए, उन्‍हें रास्‍ता दिखाने के लिए तरह-तरह की तरकीब अपनाई जा रही है।




मनमोहन पर भी साधा निशाना

प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह पर भी निशाना साधा और कहा कि अगर उन्हें सारी अर्थव्यस्था की जानकारी है। तो कांग्रेस की पिछले 10 सालों की सरकार में लोगों का विकास क्यों नहीं हुआ। पीएम ने यूपीए शासन में हुए घोटालों की ओर इशारा करते हुए कहा कि उनके समय में सब कुछ हुआ लेकिन वे चुप क्यों रहे। अब अचानक बोलने लगे हैं।